मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : ग्रीष्मकालीन राजधानी के बाहरी क्षेत्र नौगाम में आतंकियों ने सोमवार को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के बंकर पर ग्रेनेड हमला किया, लेकिन कोई नुकसान नहीं हुआ। इस बीच, दक्षिण कश्मीर के बेलू पुलवामा में तीन आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर तलाशी अभियान (कासो) चलाया। वहीं, रविवार रात इसी जिले के रत्नीपोरा इलाके से सुरक्षाबलों ने पांच युवकों को आतंकियों से संबंधों और पथराव में संलिप्तता पर पूछताछ के लिए हिरासत में लिया।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि दोपहर को आतंकियों ने श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र गुलशन नगर, नौगाम में सीआरपीएफ की 117वीं वाहिनी के बंकर को निशाना बनाते हुए ग्रेनेड फेंका, लेकिन निशाना चूकने से ग्रेनेड सड़क पर गिरा और कोई धमाका नहीं हुआ। सुरक्षाबलों ने तुरंत पूरे इलाके को घेरते हुए बम निरोधक दस्ते को सूचित किया। बम निरोधक दस्ते ने मौके पर पहुंचकर बम को कब्जे में लेकर निष्क्रिय बनाया। लश्कर व हिज्ब आतंकियों की सूचना पर सुरक्षाबलों ने गांव को घेरा

पुलवामा से मिली सूचनाओं में बताया गया है कि सोमवार सुबह बेलू गांव में लश्कर व हिज्ब के तीन आतंकियों के अपने किसी संपर्क सूत्र के पास आने की सूचना मिलते ही सुरक्षाबलों ने गांव को घेर लिया। सुरक्षाबलों ने गांव में आतंकियों का ठिकाना होने के संदेह में मकानों और गांव से सटे बागों में तलाशी ली। दोपहर बाद तक चले अभियान में जब कोई सुराग नहीं मिला तो सुरक्षाबलों ने अभियान समाप्त कर दिया। पांच युवकों को पकड़ा

पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने रविवार रात रत्नीपोरा और उससे सटे गांवों में अलग-अलग छापे मारे। इस दौरान पांच युवकों को पकड़ा गया। यह युवक पथराव, राष्ट्रविरोधी प्रदर्शनों और आतंकियों से संबंधों के मामले में पुलिस को वांछित थे। पकड़े गए युवकों की पहचान तारिक अहमद राथर निवासी खरबतपोरा, परवेज अहमद डार निवासी मोहनविजी, आसिफ डार निवासी रक्ख लाजूरा, रत्नीपोरा के इरशान अहमद रेखी व गुलाम नबी सोफी के रूप में हुई है। इन युवकों से पूछताछ जारी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप