राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : ग्रेट लेक्स ट्रैक-दुनियाभर के ट्रैकिग व रोमांच के शौकीनों को लुभाता है। कश्मीर में नारनाग से लेकर सोनमर्ग तक हरी-भरी वादियां, नाले और झरने, ऊंचे पहाड़ों और निचनेई दर्रे से गुजरते हुए ट्रैकर गंगबल, विशनसर, गडसर जैसी झीलों के सौंदर्य से अभिभूत होते हैं। जुलाई के दूसरे पखवाड़े से लेकर अक्टूबर के पहले सप्ताह तक ही ग्रेट लेक्स ट्रैक पर ट्रैकिग होती है, लेकिन इस बार यह बंद है। यहां ना पर्यटक आ सकते हैं और ना ही स्थानीय लोग इस क्षेत्र में जा सकते हैं। इसका मुख्य कारण सीमा पार से घुसपैठ है, जिस कारण ग्रेट लेक्स ट्रैक को बंद कर दिया गया है। हालांकि, नारनाग व उसके साथ सटे इलाकों तक ट्रैकिग पर कोई प्रतिबंध नहीं है।

ग्रेट लेक्स ट्रैक का एक हिस्सा उत्तरी कश्मीर में एलओसी के साथ सटे गुरेज सेक्टर से और एक हिस्सा द्रास सेक्टर के साथ ही भी लगता है। इन दोनों ही इलाकों से ही आतंकियों की घुसपैठ का पता चला है, उसके बाद सेना ने अपना अभियान शुरू कर दिया। इस पूरे इलाके में इस समय सेना और पुलिस की टुकड़ियां आतंकियों का पता लगाने में जुटी हुई हैं। सेना के हेलीकॉप्टर भी इस क्षेत्र में लगातार उड़ान भर रहे हैं।

सोनमर्ग स्थित पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि ग्रेट लेक्स इलाके में सुरक्षाबलों का अभियान जारी है। इसलिए ट्रैकर और पर्यटक रोके गए हैं। ग्रेट लेक्स ट्रैक का आधार शिविर सोनमर्ग ही है।

एडवेंचर टूअर आपरेटर एसोसिएशन कश्मीर के अध्यक्ष रौऊफ अहमद त्रंबु ने बताया कि अगस्त 2019 से पहले तक श्रीनगर में स्थित टूरिस्ट रिसेप्शन सेंटर, पर्यटन निदेशालय कार्यालय परिसर में स्थित पर्यटन विभाग के एडवेंचर विग द्वारा ग्रेट लेक्स के लिए अनुमति जारी की जाती थी। इसी अनुमति के आधार पर सोनमर्ग स्थित संबंधित सैन्य अधिकारी ग्रेट लेक्स के लिए ट्रैकिग की अनुमति देते थे। अब सेना अनुमति देने से इन्कार कर रही है। वुस्सन, गांदरबल में स्थित सैन्य अधिकारियों ने नारनाग से ऊपर गंगबल की तरफ जाने वालों को भी रोकना शुरू कर दिया है। हमें संबधित अधिकारी कहते हैं कि ऊपरी इलाके में एक अभियान चल रहा है।

नागरिक क्षति से बचने के लिए बंद किया गया ट्रैकिंग

जम्मू कश्मीर प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि गुरेज के रास्ते घुसपैठ की आशंका और आतंकियों के इसी इलाके में छिपे होने की सूचना के बाद सेना ने अभियान चला रखा है। किसी तरह की नागरिक क्षति से बचने के लिए ट्रैकिग को बंद किया गया है। बीते साल गंगबल के पास मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया था जो गुरेज सेक्टर से अपने साथियों संग घुसपैठ कर यहां तक पहुंचा था। पिछले एक साल से अकसर इस इलाके में आतंकी गतिविधियों की सूचना मिल रही है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस