राज्य ब्यूरो, श्रीनगर: केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर सोमवार को कश्मीर पहुंचेंगे। इस दौरान वह श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माणाधीन जेड मोड़ और जोजिला सुरंग का भी जायजा लेंगे।

इसके अलावा वह बारामुला-गुलमर्ग, वायलू-दोनीपावा और दोनीपावा से अशाजीपोरा तक हाईवे निर्माण का नींव पत्थर भी रखेंगे। वह 2948 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होने वाले 42 किलोमीटर लंबे 4-लेन श्रीनगर रिंग रोड का भी नींव पत्थर रखेंगे।

यहां बता दें कि पहले से ही केंद्रीय मंत्री लगातार जम्मू कश्मीर पहुंचकर विकास योजनाओं का जायजा ले रहे हैं और लोगों से सीधा संवाद भी कर रहे हैं। वह यहां जनप्रतिनिधियों से भी मिल रहे हैं। अब तक 30 से अधिक मंत्रियों के दौरे हो चुके हैं। कार्यक्रम के अनुसार 70 केंद्रीय मंत्रियों को सितंबर और अक्टूबर माह में जम्मू कश्मीर आना है। दूसरे चरण में वरिष्ठ मंत्रियों के आने का कार्यक्रम है। श्रीनगर के लिए अहम है यह प्रोजेक्ट

आउटर रिग रोड श्रीनगर के लिए खासा महत्वपूर्ण है। यह प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद श्रीनगर को जाम से कुछ राहत मिलेगी, वहीं भारी ट्रैफिक को शहर में प्रवेश करने की आवश्यकता ही नहीं होगी। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को गति देने की तुरंत आवश्यकता है। तेजी से हो रहा सड़कों और पुलों का कार्य

जम्म कश्मीर के पुनर्गठन के बाद प्रदेश में सड़कों और पुलों के कार्य में तेजी आई है। काजीकुंड और बनिहाल के बीच सबसे लंबी टनल का निर्माण कार्य पिछले माह ही पूरा हो चुका है। इससे जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर ट्रैफिक की गति में सुधार हुआ है। खास बात यह है कि यह टनल सदाबहार रहेगी अर्थात बारिश और बर्फबारी के प्रभाव से मुक्त होगी। इससे पहले बनी जवाहर टनल सर्दियों में बर्फबारी के कारण अकसर बंद हो जाती थी और हाईवे पर यातायात प्रभावित हो जाता था। इसक अलावा टनल पर यातायात का भी काफी दबाव था। क्या जम्मू-श्रीनगर हाईवे की भी सुध लेंगे गडकरी

रामबन और बनिहाल के बीच जम्मू-श्रीनगर हाईवे के विस्तारीकरण का कार्य काफी धीमी गति से चल रहा है। बारिश और मौसम की खराबी के कारण इस पर यातायात भी बंद करना पड़ता है। ऐसे में अपेक्षा है कि गडकरी इस हाईवे की सुध लें और निर्माण कार्य को गति प्रदान करने का निर्देश देंद्ध

Edited By: Jagran