राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : दक्षिण कश्मीर के शोपियां में बुधवार को आतंकियों ने घात लगाकर बड़ा हमला किया, जिसमें चार पुलिसकर्मी शहीद हो गए। हमले के बाद आतंकी तीन पुलिसकर्मियों की राइफलें लेकर भाग निकले। इस हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन ने लेते हुए लूटे गए हथियारों की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल की हैं।

शहीद पुलिसकर्मियों की पहचान कांस्टेबल जावेद अहमद बट पुत्र नजीर अहमद बट निवासी पंजरट एचएमटी (श्रीनगर), कांस्टेबल मोहम्मद इकबाल मीर पुत्र अब्दुल रहमान निवासी हुडुर चमन (बारामुला), कांस्टेबल इसहाक अहमद मीर पुत्र मोहम्मद मलिक मीर निवासी रफियाबाद (बारामुला) और एसपीओ आदिल अहमद बट पुत्र मंजूर अहमद बट निवासी जावूरा, (शोपियां) के रूप में हुई है।

यह हमला शोपियां के अरहामा इलाके में फ्रूट मंडी के पास हुआ। बताया जाता है कि डीएसपी हेडक्वार्टर शोपियां के एस्कार्ट दस्ते में शामिल पुलिसकर्मी अपने वाहन की मरम्मत कराने के लिए अरहामा बाजार में एक मकैनिक के पास आए थे। आतंकियों ने पुलिसकर्मियों को देखते ही उनपर घात लगाकर अंधाधुंध गोलियां चलाई। पुलिसकर्मियों को बचाव करने या जवाबी फायर का कोई मौका नहीं मिला और चारों जख्मी होकर जमीन पर गिर पड़े। पुलिसकर्मियों को जमीन पर गिरते देख आतंकी भी वहां से भाग निकले। गोलियों की गूंज से पूरे इलाके में अफरा तफरी फैल गई। लोग अपनी जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों की तरफ भागने लगे। गोलियों की आवाज सुनकर निकटवर्ती इलाके में गश्त कर रहे पुलिस व अ‌र्द्धसैनिकबलों के जवान मौके पर पहुंच गए। उन्होंने खून से लथपथ पड़े पुलिसकर्मियों को उठाया और निकटवर्ती अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में डॉक्टरों ने दो पुलिसर्किमयों को मृत लाया घोषित कर दिया, जबकि दो अन्य ने बाद में दम तोड़ दिया।

आइजीपी कश्मीर एसपी पाणि ने आतंकी हमले में चार पुलिसकर्मियों की शहादत की पुष्टि करते हुए बताया कि आतंकियों को पकड़ने के लिए एक विशेष अभियान चलाया गया है। इस बीच, जैश ए मोहम्मद के प्रवक्ता ने एक बयान जारी कर दावा किया कि शोपियां में पुलिस दल पर हमला जैश व हिज्ब के कैडर ने मिलकर अंजाम दिया है। तीन पुलिसकर्मियों की राइफलें भी हमारे पास हैं।

Posted By: Jagran