राज्य ब्यूरो, श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर में सक्रिय आतंकियों के लिए हथियारों का बंदोबस्त करने वाले लश्कर-ए-तैयबा के दो ओवरग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) शुक्रवार का उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा (कुपवाड़ा) में पकड़े गए हैं। उनके पास से एक मोटरसाइकिल समेत चीन निर्मित क्यूबीजैड-97 (एसाल्ट राइफल) और एक एके-105 राइफल व अन्य साजोसामान जब्त किया गया है। कश्मीर में आतंकियों या उनके किसी ओवरग्राउंड वर्कर के पास से चाइनीज क्यूबीजैड-97 राइफल की बरामदगी का यह तीसरा मौका है।

हंदवाड़ा पुलिस को सुबह पता चला था कि लश्कर के दो ओवरग्राउंड वर्कर हथियारों का बंदोबस्त करने में लगे हैं। पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए सेना की 21 आरआर और सीआरपीएफ की 92वीं वाहिनी के जवानों के साथ मिलकर कस्बे में कई जगहों पर नाके लगाए। चिनार पार्क के पास नाके पर तैनात जवानों ने एक मोटरसाइकिल पर सवार दो युवकों को अपनी तरफ आते देखा। इन युवकों ने जब नाका देखा तो उन्होंने मोटरसाइकिल मोड़ने का प्रयास किया। इस पर जवानों का संदेह यकीन में बदल गया। इसके बाद दोनों को दबोच लिया गया। इनकी पहचान लियाकत अहमद मीर और आकिब रशीद मीर के रूप में हुई है। यह दोनों ही हयना त्रेहगाम कुपवाड़ा के रहने वाले हैं। इन दोनों से चीन निर्मित एक क्यूबीजैड-97 और एक एके-105 राइफल मिली है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इन दोनों ने लश्कर के साथ अपने संबंधों का खुलासा किया है। यह दोनों ही दक्षिण कश्मीर में सक्रिय आतंकियों के लिए हथियारों का बंदोबस्त करते थे। इस बार भी वह हथियारों का बंदोबस्त कर उन्हें दक्षिण कश्मीर में पहुंचाने वाले थे।

वहीं, पुलिस ने शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के अवंतीपोरा में सक्रिय हिजबुल मुजाहिदीन के एक ओवरग्राउंड वर्कर को गिरफ्तार किया है। उसके पास से आतंकवाद से जुड़ी पुस्तकें और हथियारों का जखीरा भी मिला है। पकड़ा गया ओवरग्राउंड वर्कर का नाम फिरदौस अहमद डार है। वह नूरपोरा डागरपोरा का रहने वाला है। वह अवंतीपोरा और त्राल में सक्रिय आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकानों का बंदोबस्त करता था। इसके अलावा उन्हें एक जगह से दूसरी जगह हथियारों संग सुरक्षित पहुंचाने का काम करता था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021