श्रीनगर, एएनआइ। Ceasefire violation In Poonch. जम्मू-कश्मीर में पुंछ जिले के कृष्णाघाटी सेक्टर में पाकिस्तान ने सोमवार सुबह 9.45 बजे सीजफायर का उल्लंघन किया। इधर, भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए मुंहतोड़ जवाब दिया। 

इस बीच, उत्तरी कश्मीर में गुरेज़ सेक्टर में एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन में सेना का जवान शहीद हो गए।

जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान सेना ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के किनारे अग्रिम चौकियों पर गोलाबारी की। वहीं, भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की।

रक्षा प्रवक्ता के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने पुंछ में कृष्णाघाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास गोलीबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन शुरू किया। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना जवाबी कार्रवाई कर रही है।

आखिर पाकिस्तानी सेना मानी उसका नागरिक था घुसपैठिया

पाकिस्तानी रेंजर शुक्रवार देर रात तक जिस घुसपैठिए को अपना नागरिक मानने से इन्कार कर शव लेने से कतरा रहे थे, शनिवार को पाक नागरिकों के दवाब में उसे स्वीकार करना पड़ा कि मारा गया घुसपैठिया उसका नागरिक है।दरअसल, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) जवानों ने सांबा सेक्टर के मंगू चक्क इलाके में आतंकियों के घुसपैठ का प्रयास विफल कर दिया था। जब आतंकी अपने गाइड नियाज अहमद की अगुआई में भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की फिराक में थे तो बीएसएफ ने गाइड को ढेर कर दिया था, लेकिन गाइड के पीछे चल रहे आंतकी भाग खड़े हुए थे।

भारत के मंगूचक्क के सामने वाले पाकिस्तानी गांव भोपालपुर के लोगों को पता चला कि गांव में रहने वाला आतंकी गाइड नियाज अहमद बीएसएफ के हाथों मारा गया, तो महिलाओं ने जबरदस्त प्रदर्शन कर पाक रेंजर्स पर दवाब बनाया कि जिस व्यक्ति का घुसपैठ के लिए इस्तेमाल किया है, उसका शव लाकर दें। ग्रामीणों के दवाब में आए पाक रेंजर शनिवार को हैदर पोस्ट पर पहुंचे और बीएसएफ अधिकारियों से बैठक कर नियाज अहमद का शव उन्हें सौंपने की फरियाद की। शुक्रवार की नियाज को अपना नागरिक न मानने की गलती पर उन्होंने भारतीय जवानों से माफी भी मांगी।

इसके बाद बीएसएफ की 176वीं बटालियन के गुरविंद्र ¨सह और एसएचओ घगवाल सुधीर अंदोत्रा ने शव को पाकिस्तानी रेंजर्स को सौंप दिया। पाकिस्तान के गांव शकरगढ़ का था नियाज सांबा के मंगूचक्क में ढेर हुआ आतंकी गाइड नियाज अहमद पुत्र फिरोज दीन पाकिस्तान के गांव शकरगढ़ का रहने वाला था। वह शुक्रवार की रात को घुसपैठ करने आया था। बीएसएफ जवानों ने उसे देख जाने के बाद उसे रुकने के लिए भी कहा था, लेकिन वह नहीं रुका। इस पर बीएसएफ ने उसे ढेर कर दिया था।

 

जम्मू-कश्मीर की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस