राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : उत्तरी कश्मीर के जिला कुपवाड़ा में नियंत्रण रेखा पर दो अलग-अलग बारूदी सुरंग विस्फोट में एक सैन्यकर्मी शहीद व एक अन्य घायल हो गया।

जानकारी के अनुसार, शुक्रवार देर रात सेना की गोरखा रेजीमेंट के जवानों का एक गश्तीदल नियंत्रण रेखा पर गोगलडार इलाके में गश्त कर रहा था। इसी दौरान दल में शामिल जवान का पांव वहां घुसपैठियों को रोकने के लिए लगाई बारूदी सुरंग पर पड़ा और एक जोरदार धमाका हो गया। इस धमाके में जवान अभिषेक छेत्री घायल हो गया। उसे उपचार के लिए द्रगमुला स्थित सैन्य अस्पताल में दाखिल कराया गया। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इसी दौरान केरन सेक्टर में भी एलओसी पर स्थित बलबीर चौकी से कुछ आगे गश्त के दौरान राइफलमैन (24) निहाल गुरुंग पुत्र रविंद्र गुरुंग भी बारूदी सुरंग विस्फोट में जख्मी हो गया। उसे उपचार के लिए श्रीनगर के बादामी बाग स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल में उपचार के लिए लाया गया। जहां शनिवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। निहाल जम्मू संभाग के कठुआ जिले की बसोहली तहसील की पंचायत घगरोड़ के रहने वाले थे।

संबंधित सैन्य अधिकारियों ने बताया कि नियंत्रण रेखा पर कई जगह सीमा पार से आने वाले घुसपैठियों से निपटने के लिए बारूदी सुरंगे बिछाई गई हैं। जहां बारूदी सुरंग होती हैं, वहां एक निशान लगाया गया होता है और इससे उक्त इलाके में तैनात सभी जवान अवगत रहते हैं। हो सकता है कि अंधेरा होने के कारण जवानों ने निशान न देखा हो और बारूदी सुरंग पर पैर रख दिया हो।

Posted By: Jagran