राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : सबजेल एमएलए हॉस्टल में एहतियातन हिरासत में रखे अवामी इत्तेहाद पार्टी के वरिष्ठ नेता बिलाल सुल्तान की तबीयत बिगड़ गई। इस कारण सुल्तान को उपचार के लिए अस्पताल ले जाना पड़ा। गृह विभाग और पुलिस ने इस विषय में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है।

वर्ष 2019 में श्रीनगर संसदीय क्षेत्र से डॉ. फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले बिलाल सुल्तान को पांच अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम लागू करने के मद्देनजर प्रशासन ने एहतियातन अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ हिरासत में लिया था। बिलाल सुल्तान की तबीयत बिगड़ने की पुष्टि करते हुए संबंधित सूत्रों ने बताया कि वह अकेलेपन के कारण डिप्रेशन का शिकार हो गए हैं। उन्हें उपचार के लिए रैनावारी स्थित अस्पताल ले जाया गया था, जहां डाक्टरों ने आवश्यक उपचार देने के बाद उन्हें वापस भेज दिया।

सुल्तान की पत्नी मुजम्मिल ने तबीयत खराब होने की पुष्टि करते हुए कहा कि सबेजल एमएलए हॉस्टल में उन्हें खराब हालात में रखा गया है। इससे उनकी तबीयत बिगड़ गई है। प्रशासन को उन्हें जल्द रिहा करना चाहिए, ताकि उनका उपचार करवा सकें। उन्होंने बताया कि उसने पति की रिहाई के लिए दो बार अदालत का दरवाजा खटखटाया। अदालत ने पहले अक्टूबर माह के दौरान उनकी जमानत मंजूर की थी। पुलिस ने रिहा होते ही उन्हें दोबारा हिरासत में लिया था। इसके बाद दिसंबर में दोबारा जमानत मिली और पुलिस ने फिर एहतियातन हिरासत में ले लिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस