जम्मू, एएनआई। घाटी में अशांति फैलाने के लिए पाकिस्तान लगातार नापाक हरकतें करने में जुटा हुआ है।  शोपियां के पिंजौरा में चल रहा मुठभेड़ खत्म हो गया है। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह के अनुसार दो दिन के ऑपरेशन के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के 9 आतंकी मारे गए हैं जिनमें से तीन टॉप कमांडर लेवल के लोग हैं। पिछले दो हफ्ते के अंदर 9 बड़े ऑपरेशन हुए जिसमें कुल 22 आतंकी मारे गए जिनमें से 6 टॉप कमांडर हैं।   

मेजर जनरल ए, सेनगुप्ता सेना की विक्टर फोर्स के जीओसी ने बताया कि शोपियां में आज तड़के 3 बजे शुरू हुए 4 घंटे के ऑपरेशन में 4 आतंकवादी मारे गए। इन आतंकवादियों को नागरिकों पर ज्यादती करने, गैर-स्थानीय मजदूरों को मारने, पुलिसकर्मियों का अपहरण करने, 2019 में ट्रक चालकों को परेशान करने और घायल करने के लिए जाना जाता था

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह के अनुसार जम्मू-कश्मीर में सेना का आतंकियों के खिलाफ सफाई अभियान जारी है। पिछले 24 घंटों में भारतीय सेना ने कश्मीर घाटी में 9 आतंकियों को मार गिराया है। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह के अनुसार दो दिन के ऑपरेशन के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के 9 आतंकी मारे गए हैं जिनमें से तीन टॉप कमांडर लेवल के लोग हैं। पिछले दो हफ्ते के अंदर 9 बड़े ऑपरेशन हुए जिसमें कुल 22 आतंकी मारे गए जिनमें से 6 टॉप कमांडर हैं। डीजीपी जम्मू-कश्मीर दिलबाग सिंह ने कहा जम्मू-कश्मीर में सेना का आतंक के खिलाफ इस बड़े अभियान में घाटी आतंक मुक्त बनने की राह पर है। इसका एक बड़ा उदाहरण बीते 24 घंटे में मारे गये 9 आतंकी हैं। इन 22 आतंकियों में से 18 लोग साउथ कश्मीर के तीन जिलों पुलवामा, कुलगाम, शोपियां से थे और एक अवंतीपोरा से था। जम्मू के राजौरी पुंछ एरिया में 2 ऑपरेशन हुए जिसमें 3 आतंकी घुसपैठ करते हुए मारे गए।

साउथ कश्मीर में कल 5 आतंकियों को मार गिराया गया, समचाार एजेंसी ने सेना के हवाले से बताया कि आतंकियों के खिलाफ इस अभियान में सेना का दो जवान भी  घायल हुए हैं। हालांकि, आतंकियों के खात्मे के लिए ऑपरेशन अब भी जारी है। बता दें कि घुसपैठ की कोशिशों को देखते हुए सेना बीते कुछ समय से घाटी में एक ऑपरेशन चला रही है, जिसके तहत यह कार्रवाई हुई है। कश्मीर में सेना को बहुत बड़ी कामयाबी मिली है। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आज 4 आतंकी ढेर कर दिए गए।

24 घंटे में 9 आतंकियों का काम तमाम

शोपियां में पिछले 24 घंटों में 9 आतंकी मारे गए हैं। शोपियां के पिंजौरा में चल रहा मुठभेड़ खत्म हो गया है।सोमवार को 4 आतंकी मारे गए हैं। ये चारों हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी हैं। आतंकियों से भारी मात्रा में गोला बारूद और हथियार बरामद किया गया है। 

बता दें कि उत्तरी कश्मीर में आतंकियों की ओर से घुसपैठ की लगातार कोशिशें की जा रही हैं। पाकिस्तानी सेना आतंकियों को घुसपैठ कराने के लिए कवर फायर भी दे रही है। वहीं खुफिया सूचना के आधार पर सेना, आतंकियों और पाकिस्तान की इन नापाक हरकतों को नाकाम कर रही है। बता दें कि मुठभेड़ को देखते हुए कुलगाम और शोपियां जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। जिले में कल हुई मुठभेड़ में सेना ने हिजबुल कमांडर समेत पांच आतंकियों को मार गिराया था। नौ घंटे चली मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों से तीन एके-47 राइफल, दो पिस्टल व गोला-बारूद बरामद किया गया था। 

दरअसल, शनिवार को जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के 5 आतंकवादियों को मार गिराया। बताया जा रहा है कि पिछले 12 दिनों से आतंकवादियों का एक हिजबुल मुजाहिदीन समूह नागरिकों को मार रहा था। सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के 5 आतंकियों को शनिवार की सुबह एक ऑपरेशन चलाकर उन्हें मार गिराया गया।

इससे पहले शुक्रवार को सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर के सोपोर और हंदवारा इलाके से आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के चार सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार किया था। उन्होंने बताया कि आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर गुरुवार रात को कुपवाड़ा जिला अंतर्गत हंदवारा इलाके के शालपोरा गांव में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इस दौरान लश्कर के दो सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार किया गया।अधिकारियों ने कहा कि इनकी पहचान आजाद अहमद भट और अल्ताफ अहमद बाबा के रूप में हुई और इनके कब्जे से दो पिस्तौल और दो हथगोले बरामद किए गए।

इसके पहले सुरक्षा बलों ने बृहस्पतिवार शाम को भी बारामुला जिले के सोपोर इलाके से दो अन्य वसीम अहमद और जुनैद राशिद गनी को सादिक कॉलोनी सुरक्षा चौकी के पास जांच अभियान के दौरान गिरफ्तार किया। इनके कब्जे से भी हथियार बरामद किए गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार सदस्यों पर संबंधित थानों में मुकदमे दर्ज किए गए हैं। 

आतंकियों के छिपे होने पर तलाशी अभियान चलाया

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में रविवार को सेना व सुरक्षाबल के जवानों ने आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर दो स्थानों पर गहन तलाशी अभियान चलाया था। सुरक्षाबलों ने पुलवामा के गसू व वासू इलाकों में घरों को खंगाला था। सूत्रों के अनुसार सुरक्षाबलों ने इन इलाकों के सभी रास्ते सील कर गहन तलाशी ली, लेकिन आतंकियों का कोई पता नहीं लगा था। पुलिस ने शनिवार को पुलवामा से दो ओवर ग्राउंड वर्करों को गिरफ्तार किया था। उनसे मिली जानकारी के आधार पर आतंकियों की धरपकड़ के लिए मुहिम चलाई जा रही है।

2020 में अब तक आतंक के टॉप कमांडर ढेर

अब्दुल रहमान - 3 जून को जैश कमांडर, ताहिर अहमद भट- 17 मई  हिज़्बुल कमांडर, रियाज नायकू- 6 मई  हिज़्बुल कमांडर, हैदर- 3 मई लश्कर कमांडर, सजाद नवाब डार- 9 अप्रैल जैश कमांडर, अहमद भट- 15 मार्च  लश्कर आतंकी, कारी यासिर-  कश्मीर का जैश चीफ, हारून वानी- हिज़्बुल कमांडर,  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस