श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। कश्मीर में विशेषकर ग्रीष्मकालीन राजधानी में रविवार को पुलवामा हमले दोहराने की आशंका के चलते सुरक्षा एजेंसियों के लिए अलर्ट जारी किया गया। प्रशासन ने कुछ देर के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद रखीं। फिलहाल, विस्फोट के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले वाहन जिसके बारे में कहा जा रहा है कि वह मोटरसाइकिल हो सकता है, का पता लगाने के लिए विशेष दल बनाया है।

गौरतलब है कि 14 फरवरी को आतंकियों ने श्रीनगर-जम्मू हाईवे पर लितपोरा में सीआरपीएफ काफिले पर वाहन बम से हमला किया था। हमले में 40 सीआरपीएफ कर्मी शहीद हुए थे। इसके बाद मार्च के अंत में आतंकियों ने बनिहाल के पास कार बम के जरिए सीआरपीएफ काफिले पर हमले का प्रयास किया था। सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों को अपने तंत्र से पता चला है कि आतंकी फिर हाईवे और श्रीनगर शहर में पुलवामा जैसा बड़ा हमला दोहराने की फिराक में हैं।

इस बार वह मोटरसाइकिल इस्तेमाल कर सकते हैं। एजेंसियों कि मानें तो हमले की दृष्टि से रविवार का दिन ही सबसे ज्यादा संवेदनशील था। आतंकी हमला सुबह सात से आठ बजे के बीच करने वाले थे। खुफिया जानकारी के मुताबिक, श्रीनगर शहर में टोटो मैदान और बादामी बाग सैन्य छावनी के पास ही किसी जगह धमाका करने की फिराक में थे। इसमें नाकाम रहने पर वह हाईवे पर किसी जगह विशेष को हमले के लिए चुन सकते हैं। इसी जानकारी के आधार पर पूरे कश्मीर में विशेषकर श्रीनगर में अलर्ट जारी किया गया था।

आइजीपी कश्मीर एसपी पाणि ने सभी सुरक्षा एजेंसियों के साथ इस अलर्ट को समय रहते साझा किया। सूत्रों ने बताया कि हाईवे पर सुरक्षाबलों के काफिले के मद्देनजर आम नागरिक वाहनों की आवाजाही पर भी रोक थी। अतिरिक्त सतर्कतता बरती गई। नौ बजे सुरक्षाबलों के काफिलों को उनकी मंजिल के लिए रवाना होने दिया। प्रशासन ने इंटरनेट भी बंद रखा। मोटरसाइकिल बम के इस्तेमाल के अलर्ट के बाद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कुछ देर के लिए श्रीनगर में प्रशासन ने इंटरनेट भी बंद रखा। इससे भी लोगों में भय फैला। प्रशासन ने इसे जल्द बहाल करते हुए कहा कि इंटरनेट सेवाओं को श्रीनगर में चुनाव के मद्देनजर की जा रही सुरक्षा ड्रिल के तहत बंद किया गया था।

अलबत्ता, आतंकी खतरे और अलर्ट पर कोई भी अधिकारी खुलकर नहीं बोला। चोरी हुए दुपहिया वाहनों की सूची भी मंगाई। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि आतंकियों द्वारा मोटरसाइकिल बम के इस्तेमाल की आशंका को देखते हुए सभी थानों में बीते कुछ दिनों के दौरान चोरी हुए दुपहिया वाहनों की सूची भी मंगाई गई। इसके अलावा शहर में सक्रिय कबाड़ियों, नामी वाहन चोरों से पूछताछ की गई है।

शहर में ही नहीं, हाईवे पर भी विशेष नाके लगाए गए, जहां मोटरसाइकिल सवारों की जांच-पड़ताल हुई। बेशक यह अलर्ट रविवार के लिए था, लेकिन आतंकी किसी भी समय इस तरह की वारदात को अंजाम दे सकते हैं। इसलिए पूृरा एहतियात बरता जा रहा है। लोगों को भी सचेत किया गया है कि वह अपने घर, दुकान के आसपास किसी भी अंजान व्यक्ति को वाहन खड़ा न करनें दे। सड़कों पर भी किसी भी वाहन को खड़ा नहीं करने दिया जा रहा है। 

पुलवामा हमले से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप