राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन (पीएमआरएसएसएम) के राज्य में कार्यान्वयन के लिए राज्यपाल प्रशासन ने राज्य स्वास्थ्य एजेंसी/शासकीय परिषद, कार्यकारी समिति और जिला कार्यान्वयन इकाई (डीआइयू) का गठन किया है।

प्रशासनिक विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार, राज्य स्वास्थ्य एजेंसी (एसएचए) शासकीय परिषद के पदेन चेयरमैन मुख्य सचिव होंगे। प्रधान सचिव, स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा विभाग पदेन उप चेयरमैन होंगे। शासकीय परिषद के कार्यकारी समिति के सदस्यों में वित्त आयुक्त, आवास और शहरी विकास, प्रधान सचिव वित्त विभाग, प्रधान सचिव श्रम और रोजगार, सचिव, ग्रामीण विकास विभाग और पंचायती राज, सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी, निदेशक, शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज सौरा, ¨प्रसिपल गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, जम्मू, ¨प्रसिपल गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, श्रीनगर निदेशक स्वास्थ्य सेवा कश्मीर और निदेशक स्वास्थ्य सेवा जम्मू और मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन शामिल है।

सोसायटी के निदेशक परिवार कल्याण/मुख्य कार्यकारी अधिकारी कार्यकारी सदस्य सचिव होंगे। परिषद में राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी और विषय वस्तु विशेषज्ञ के प्रतिनिधि होंगे, जिन्हें राज्य सरकार की ओर से विशेष आमंत्रित के रूप में नामांकित किया। पीएमआरएसएसएम के तहत सेवाओं के वितरण से संबंधित महत्वपूर्ण कार्यो को एसएचए द्वारा किया जाएगा, जिसमें डाटा साझाकरण, परिवारों और सदस्यों के सत्यापन, जागरूकता उत्पादन व निगरानी शामिल हैं। एसएचए अपने कर्मचारियों/कार्यान्वयन सहायता एजेंसी (1 एसए) के माध्यम से राज्य स्वास्थ्य संरक्षण/बीमा योजना के नीतिगत मुद्दों और पीएमआरएसएसएम के साथ राज्य संबंधों के अभिसरण, पीएमआरएसएसएम के साथ राज्य योजनाओं का अभिसरण, कार्यक्रम को लागू करने के लिए संस्थागत व्यवस्था को मंजूरी देकर, कार्यक्रम के विभिन्न तत्वों के लिए अन्य एजेंसियों के लिए एनएचए के परामर्श से आवश्यक परिचालन के लिए जिम्मेदार रहेगा।

Posted By: Jagran