राज्य ब्यूरो, श्रीनगर: उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में योगदान के लिए इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर 75 प्रगतिशील महिला उद्यमियों को भी सम्मानित किया जाएगा। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने यह घोषणा वीरवार को जम्मू कश्मीर ग्रामीण आजीविका मिशन (जेकेआरएलएम) द्वारा शेरे कश्मीर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में आयोजित महिला उद्यमियों के एक सम्मेलन में की है। उन्होंने इस अवसर पर पूरे प्रदेश में जिला ग्रामीण हाट की स्थापना का ई-नींव पत्थर भी रखा। जिला मुख्यालय पर स्थापित किए जाने वाले इन हाट में महिला उद्यमियों और महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाया गया सामान बेचा जाएगा।

उपराज्यपाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर में लाखों की तादाद में महिला उद्यमी अपनी प्रतिभा, नवाचार और मेहनत से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में लगातार योगदान कर रही हैं। हमें इस पर गर्व है। दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में महिला उद्यमी ही सामाजिक आर्थिक विकास के रथ को आगे बढ़ाते हुए सरकार को सामाजिक असंतुलन और असमानता को दूर करने में मदद करने के अलावा रोजगार सृजन में भी सहयोग कर रही हैं।

उपराज्यपाल ने कहा कि साथ, हौसला, उम्मीद, तेजस्विनी जैसी योजनाओं ने ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने की मजबूत नींव तैयार की है। प्रौद्योगिकी, बाजार और वित्तीय समावेश महिला स्वयं सहायता समूहों को बदलने में व्यापक सहयोग कर रहा है। आज महिला स्वयं सहायता समूह और महिला उद्यमी गलाकाट प्रतिस्पर्धा वाले वैश्विक बाजार में न सिर्फ अपने उत्पादों के लिए एक अलग पहचान बना रही हैं, बल्कि अन्य महिलाओं को भी आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने में सहयोग कर रही हैं। उन्होंने इस अवसर पर जेकेआरएलएम के गिफ्ट हैंपर और स्वयं सहायता समूह के उत्पादों के कैटालाग को भी अनावृत किया। मुख्य सचिव डा. अरुण कुमार मेहता ने यकीन दिलाया कि स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों की सरकारी विभागों में खरीद का भी प्रविधान किया जाएगा। प्रशासनिक अधिकारी चिह्नित करें महिला उद्यमियों को

उपराज्यपाल ने प्रदेश में 56 हजार स्वयं सहायता समूहों में पांच लाख महिलाओं के शामिल होने की दावा करते हुए बताया कि मौजूदा वित्त वर्ष के दौरान 1.5 लाख अतिरिक्त महिला उद्यमियों को वित्तीय मदद और समर्थन प्रदान किया जाएगा। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिया कि वह प्रदेश में 75 प्रगतिशील महिला उद्यमियों को चिन्हित करें, जिन्हें उनकी उपलब्धियों के लिए स्वतंत्रता दिवस समारोह में सम्मानित किया जाएगा।

Edited By: Jagran