राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : वादी में सुरक्षाबलों ने आतंकरोधी अभियान को जारी रखते हुए दक्षिण कश्मीर से उत्तरी कश्मीर के सोपोर तक मंगलवार की सुबह से देर शाम तक छह जगहों पर आतंकियों के छिपे होने के संदेह में घेराबंदी कर तलाशी अभियान (कासो) चलाए। इस दौरान सोपोर में करीब 12 पत्थरबाजों को हिरासत में लिया गया। इस बीच, शोपियां में आठ हथियारबंद आतंकियों ने अपने एक साथी की बरसी पर उसकी कब्र पर आकर हवा में गोलियां दाग उसे सलामी भी दी।

जानकारी के अनुसार, शोपियां के नाजिमपोरा गांव में मंगलवार शाम को सूर्यास्त के बाद आठ हथियारबंद आतंकी आए। यह आतंकी गांव में बने कब्रिस्तान में स्थित अपने एक साथी फारूक अहमद हुर्रा की कब्र पर गए। आतंकियों ने उसकी कब्र पर पहले फातेहा अदा किया। उसके बाद हवा में गोलियां दाग उसे सलामी दी। फारूक दो साल पहले आज के ही दिन अवंतीपोर के पास पडगामपोरा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था। उसके साथ उसका एक साथी रईस अहमद काचरु भी मारा गया था।

सूत्रों ने बताया कि गोलियों की आवाज सुनकर निकटवर्ती शिविर से सुरक्षाबलों का एक दस्ता गांव में आतंकियों को पकड़ने के लिए पहुंचा, लेकिन आतंकी निकल चुके थे।

इससे पूर्व शोपियां के मंडजान गांव में मंगलवार सुबह सेना और पुलिस के एक संयुक्त कार्यदल ने आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर कासो चलाया था, लेकिन यह कासो दो घंटे बाद बिना किसी सफलता के संपन्न हो गया था। कुलगाम जिले के ओके गांव में तड़के सेना, पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने कासो चलाया था। आतंकियों का ठिकाना होने के संदेह में सुरक्षाबलों ने करीब तीन दर्जन मकानों की तलाशी ली, लेकिन आतंकियों का कोई सुराग नहीं मिला।

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के रोहमू गांव में भी सेना की 53 आरआर के जवानों ने राज्य पुलिस विशेष अभियान दल और सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर कासो चलाया। सुरक्षाबलों को अपने तंत्र से गांव में दो आतंकियों के अपने किसी संपर्क सूत्र के पास आने की सूचना मिली थी। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेरते हुए घर-घर तलाशी ली। देर शाम तक यह अभियान जारी था।

उधर, उत्तरी कश्मीर के सोपोर के हतलंगू और नाथपोरा में सेना की 22 आरआर के जवानों ने पुलिस व सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर कासो चलाए। हतलंगू में यह अभियान शाम पांच बजे तक समाप्त हो गया था, लेकिन नथपोरा में देर रात तक कासो जारी था।

इससे पूर्व बीती रात पुलिस और सीआरपीएफ ने सोपोर के वारपोरा इलाके में आतंकियों व अलगाववादियों के समर्थकों के घरों में छापे मार करीब 12 युवकों को पकड़ा। यह सभी युवक पथराव और राष्ट्रविरोधी प्रदर्शनों के सिलसिले में वांछित थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप