राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : कश्मीर घाटी में वीरवार को चौथे दिन भी प्रशासनिक पाबंदियों से जनजीवन प्रभावित रहा। हालांकि कई जगहों पर दुकानें खुलीं। सड़कों पर कहीं-कहीं सार्वजनिक वाहन निकले, लेकिन कुछ जगहों पर छिटपुट हिसक झड़पें भी हुई। कुल मिलाकर स्थिति शांत व नियंत्रण में रही। इस बीच, कारगिल में बंद के दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिसा में एक व्यक्ति घायल हो गया। पुलिस ने वादी में हिसा की घटनाओं से इन्कार किया है।

हालांकि पुलिस ने आधिकारिक तौर पर कोई ब्यान जारी नहीं किया है, लेकिन सूत्रों की मानें तो वादी में दिनभर विभिन्न राजनीतिक दलों, अलगाववादी संगठनों और व्यापारिक संगठनों से जुड़े लोगों के अलावा कई कुख्यात पत्थरबाजों व पूर्व आतंकियों को हिरासत में लेने का सिलसिला जारी रहा। वीरवार को भी करीब 116 लोगों को हिरासत में लिया गया है। वादी में गत रविवार से अब तक करीब सवा छह सौ लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद गनी लोन और उनके करीबी इमरान रजा अंसारी के अलावा मा‌र्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेता तारीगामी भी शामिल हैं।

मुख्यधारा की सियासत से जुडे़ कश्मीर केंद्रित दलों के सभी प्रमुख नेता इस समय हिरासत में या फिर नजरबंद हैं। कट्टरपंथी सैयद अली शाह गिलानी और मीरवाइज मौलवी उमर फारूक अपने घरों में नजरबंद हैं। वहीं, कई अन्य अलगाववादी नेताओं को हिरासत में लिया जा चुका है।

वीरवार को भी वादी में कोई शिक्षण संस्थान, सरकारी कार्यालय या वित्तीय संस्थान नहीं खुले। सड़कों पर लगभग हर जगह सन्नाटा ही नजर आया। भीतरी इलाकों में सार्वजनिक वाहन सड़कों से गायब थे, लेकिन अंतर जिला सड़कों और हाईवे पर निजी व सार्वजनिक वाहन चले। श्रीनगर की मुख्य सड़कों पर ही नहीं बारामुला, पुलवामा, अनंतनाग, कुलगाम व बडगाम में भी मुख्य सड़कों पर इक्का-दुक्का टैक्सियां, तिपहिया और निजी वाहन ही नजर आए।

श्रीनगर के बाहरी इलाकों से सटे गांवों के अलावा पुलवामा, शोपियां, बारामुला, कुलगाम व हंदवाड़ा के भीतरी इलाकों में कुछ दुकानें खुलीं, लेकिन जनजीवन को बहाल नहीं कर पाई। वादी में किसी भी अप्रिय घटना से निपटने और कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए सुरक्षाबलों की तैनाती हर शहर, कस्बे और मोहल्ले में रही। सभी संवेदनशील इलाकों में आने जाने के रास्ते बंद कर दिए गए थे। इक्का-दुक्का लोग ही घर से निकल रहे थे, जिन्हें सुरक्षाबलों ने नहीं रोका। सुरक्षाबलों पर शरारती तत्वों ने किया पथराव

डाउन-टाउन के कुछ मोहल्लों के अलावा रामबाग, नटीपोरा, बेमिना के अलावा अनंतनाग, त्राल, सोपोर में कुछ जगहों पर शरारती तत्वों ने जुलूस निकालने का प्रयास करते हुए सुरक्षाबलों पर पथराव किया। सुरक्षाबलों ने हल्का बल प्रयोग कर उन्हें तत्काल खदेड़ दिया। हालांकि पुलिस ने वादी में हिसक झड़पों की पुष्टि नहीं की है। कारगिल में हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने किया बल प्रयोग

कारगिल से मिली सूचनाओं में बताया गया है कि कस्बे में पूरा दिन बंद रहा। कारगिल के विभिन्न सामाजिक, राजनैतिक और मजहबी संगठनों से जुडे़ लोगों ने एक जुलूस निकाला। जुलूस में शामिल कुछ लोग हिसा पर उतर आए। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा, जिसमें एक प्रदर्शनकारी जख्मी हो गया।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021