जागरण संवाददाता, राजौरी : नगर में चल रही राम लीला को देखने दूसरे दिन भी लोगों की भीड़ देखने को मिली। राम लीला का मंचन शुरू करने से पहले गणेश वंदना की गई। कलाकारों द्वारा रामलीला मंच श्रवण द्वारा अपने अंधे मां-बाप को कंधे पर उठकर चार धाम के लिए ले जाने का दृश्य दर्शाया गया तो दर्शक माता -पिता के लिए पुत्र का प्यार देख भावुक हो गए। दर्शकों ने तालियों बजाकर कलाकारों की काफी प्रंशसा की। इसके बाद राजा दशरथ के हाथों श्रवण की मृत्यु का दृश्य प्रस्तुत किया गया जिससे लोगों की आंखें नम हो गई। इस मौके पर सुरक्षा के काफी पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

Posted By: Jagran