जागरण संवाददाता, राजौरी : जिला आयुक्त राजौरी राजेश कुमार शवन ने सोमवार को उपजिला अस्पताल सुंदरबनी का दौरा कर मरीजों को उपलब्ध कराई जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं और कोविड-19 के प्रभावी नियंत्रण और प्रबंधन के लिए उठाए जा रहे कदमों का जायजा लिया। इस दौरान उपायुक्त ने चिकित्सा कर्मचारियों से उपजिला अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए की गई कोविड व्यवस्थाओं के बारे में पूछताछ की, जिन्होंने इसके बारे में जिला आयुक्त को विस्तार से जानकारी दी।

टीकाकरण प्रक्रिया को कोविड-19 की रोकथाम के लिए रामबाण औषधि बताते हुए जिला आयुक्त ने संबंधित स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा कि वह कुछ दिनों के भीतर जिले की शेष आबादी का शत-प्रतिशत कवरेज सुनिश्चित करने के लिए ठोस उपाय करें। वर्तमान में हेल्थ ब्लॉक सुंदरबनी के मामले में 45 वर्ष और उससे अधिक के टीकाकरण प्रतिशत 96 प्रतिशत है। जिला आयुक्त ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में टेस्टिग को तेज करने के लिए विशेष पंचायत स्तर की टीमों का गठन किया गया है। उन्होंने बीएमओ को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि प्रत्येक टीम के पास एक दवा किट होनी चाहिए जो कोविड पाजिटिव रोगियों को वितरित की जाएगी।

जिला आयुक्त ने जिले में कोविड-19 के कुशल नियंत्रण और प्रबंधन के लिए स्वास्थ्य विभाग के उत्साही और निस्वार्थ प्रयासों की भी सराहना की और उनसे लोगों के कल्याण के लिए उसी उत्साह के साथ काम करने का आग्रह किया।

डीसी ने लोगों से भी अपील की कि वे सभी कोविड एसओपी का पालन करके और टीकाकरण कर जिले में महामारी को कम करने में जिला प्रशासन की मदद करें।

इस बीच, जिला आयुक्त ने एसडीएच में स्थापित किए जा रहे पांच सौ एलपीएम क्षमता वाले ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर प्लांट की प्रगति का भी निरीक्षण किया और संबंधित अधिकारियों को परियोजना पर काम में तेजी लाने के लिए कहा ताकि इसे समयबद्ध पूरा किया जा सके ताकि सुनिश्चित चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति बनी रहे और मरीजों को सुविधा मिल सके।

Edited By: Jagran