जागरण संवाददाता, राजौरी : सोमवार को जम्मू-कश्मीर खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड (जेएंडके केवीआइबी) ने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति (एनएसएसएच) योजना के तहत जिले के अंतर्गत उपजिला कोटरंका में गांव-कस्बावासियों के लिए एक दिवसीय जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया।

केवीआइबी अधिकारियों ने विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। वहीं क्षेत्र के लोगों ने उन्हें अपनी समस्या के बारे में भी अवगत करवाया। एडीसी कोटरंका शफीक चौधरी मुख्य अतिथि थे। उनके साथ वित्तीय सलाहकार और मुख्य लेखा अधिकारी जम्मू-कश्मीर केवीआइबी मुहम्मद अशरफ हक्कला, डिप्टी सीईओ (जेडी) पवन गुप्ता राजौरी व कठुआ कृषि विभाग के प्रतिनिधियों सहित तहसीलदार कोटरंका आदि भी मौजूद थे।

जागरूकता शिविर को संबोधित करते हुए अधिकारियों ने कहा कि यह भारत सरकार की एक पहल है। अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति समुदाय के नए उद्यमियों को विकसित करेगी। आम लोग भी केवीआइबी योजना का लाभ ले सकते हैं। डिप्टी सीईओ ने कहा कि जनजातीय आबादी को एनएसएसएच के लाभ के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है। योजना का प्रमुख जोर सरकारी गतिविधियों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति समुदाय की भागीदारी को प्रोत्साहित करना है। इसके तहत कम ब्याज पर बैंक लोन लेकर अपना रोजगार शुरू कर सकते हैं। इससे पहले आप लोगों को केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी होना जरूरी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस