राजौरी\जम्मू एंजेंसी। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने राजौरी सीमा जिले के खेओरा इलाके से एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) की बरामदगी के मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया है। इस मामले में बुधवार को पुलिस को अहम सुराग हासिल मिले हैं। 18 जनवरी को इलाके में सुरक्षाकर्मियों ने एक आईईडी का पता लगाया था और उसे निष्क्रिय कर दिया था।

आरोपियों के आतंकी संचालकों से लिंक

सूत्रों ने बताया कि हिरासत में लिए गए तीन लोगों में एक पुंछ जिले के मेंढर इलाके का रहने वाला है और दो राजौरी जिले के निवासी हैं। उन्होनें यह भी कहा कि इस मामले में पाकिस्तान अधिकृत जम्मू-कश्मीर के आतंकी संचालकों के लिंक भी सामने आए हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसा संदेह है कि नियंत्रण रेखा के उस पार के संचालकों ने उन लोगों को ये उपकरण मुहैया कराए और साथ ही वे इनके भंडारण और उपयोग को भी निर्धारित कर रहे थे।

पता लगाए सीमा पार के कनेक्शन

राजौरी कस्बे में टिफिन आईईडी बरामद होने के बाद मामला दर्ज कर इसमें शामिल लोगों की तलाश शुरू कर दी गयी थी। सुरक्षा एजेंसियां ​​सीमा पार कनेक्शन के बारे में सुराग हालिस करने में सक्षम रहीं। जांच के दौरान पता चला कि आईईडी की आपूर्ति नियंत्रण रेखा के पार से आतंकी संचालकों द्वारा की गई थी।

सूत्रों ने बताया कि 18 जनवरी की घटना के बाद 22 जनवरी को राजौरी के पास डसाल गांव से दो और आईईडी बरामद किए गए और बाद में नष्ट कर दिए गए। एसएसपी राजौरी मोहम्मद असलम ने बताया कि आईईडी बरामदगी का मामला लगभग सुलझा लिया गया है, लेकिन इस समय सुरक्षा कारणों से सटीक विवरण साझा नहीं किया जा सकता। उन्होंने आगे बताया कि अब तक तीन आईईडी बरामद किए गए हैं और तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है

यह भी पढ़ें - Jammu: smart meter का लोगों ने किया विरोध, गुस्साए कर्मचारियों ने गुल की पूरे इलाके की बिजली

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट