जागरण संवाददाता, पुंछ : कश्मीर के बांडीपोर में शहीद हुए पुलिस के कांस्टेबल जहीर अब्बास का पार्थिव शरीर सोमवार को कश्मीर से मेंढर के कल्लर मोड़ा क्षेत्र में पहुंचा। यहां पर पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने शहीद को अंतिम विदाई दी। इस दौरान पुलिस के जवानों ने हवा में गोलियां चलाकर शहीद को सलामी दी। शहीद की शव यात्रा में हजारों की संख्या में स्थानीय लोगों की भीड़ मौजूद थी।

शहीद को अंतिम विदाई देने के लिए एसएसपी पुंछ राजीव पांडे के साथ-साथ जिला आयुक्त तारिक अहमद जरगर व अन्य अधिकारी मौजूद थे। इस अवसर पर शहीद के पिता मुहम्मद ताज ने कहा कि बेटे की शहादत पर नाज है। उन्होंने कहा कि मेरे बेटे ने अपनी जान देकर देश की रक्षा की है। उन्होंने कहा कि मेरा बेटा जहीर अपने तीन बच्चों, जिनमें दो छोटे बेटे व बेटी शामिल और अपनी पत्नी की जिम्मेदारी दे गया है। हम इस जिम्मेदारी को अंजाम तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि मेरा बेटा काफी बहादुर था। उसने ऑपरेशन के लिए जाने से पहले घर में अपनी पत्नी से बात की थी कि आतंकवादियों को मारने जा रहा हूं। वह कई ऑपरेशन में शामिल हो चुका था और कई आतंकवादियों को मार चुका था।

पुलिस के अधिकारियों ने पुष्प चक्र अर्पित कर शहीद को नमन किया और जवानों ने हवा में गोलियां चलाकर शहीद को अपनी सलामी दी।

Posted By: Jagran