जागरण संवाददाता, पुंछ : चकना-द-बाग क्षेत्र में सीमा के नजदीक भारतीय सेना के जवानों ने तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान जवानों ने दो बैग बरामद किए, जिनमें कपड़ों के साथ बड़ी मात्रा में खाने-पीने का सामान रखा था। इससे पता चलता है कि आतंकी अपने हथियार लेकर लौट गए, लेकिन खाने पीने के सामान और कपड़ों से भरे बैग छोड़ गए। सामान की जांच की जा रही है।

गौरतलब है कि दो दिन पहले पाकिस्तानी सेना ने भारतीय क्षेत्र में गोलाबारी की आड़ में आतंकियों के दल को घुसपैठ करवाने का प्रयास किया था। गोलाबारी में भारतीय सेना का कैप्टन घायल हो गया था, जिसे उपचार के लिए कमान अस्पताल ऊधमपुर रेफर किया गया था। इसके बाद से ही सेना के जवानों ने सीमा से सटे क्षेत्रों में तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान सेना के जवानों ने दो बैग बरामद किए, जिनमें दो स्ली¨पग बैग, तीन शॉल, दो पाउच, दो रेन कोट, दो पिट्ठु बैग, एक तेल, एक पानी और दो जूस की बोतल के अलावा खाने पीने का सामान मिला। फिलहाल, आतंकियों की तलाश में अभियान जारी है।

सूत्रों का कहना है कि आतंकियों ने घुसपैठ का प्रयास किया और वह भारतीय क्षेत्र में दाखिल भी हो गए थे, लेकिन जैसे ही सेना के जवानों ने जवाबी कार्रवाई शुरू की तो आतंकी खाने-पीने का सामान और कपड़े छोड़ भागने में सफल हो गए।

-----------------

पाकिस्तान निर्मित हैं खाद्य पदार्थ

सीमा पर दो बैगों से खाने पीने का जो सामान मिला है वह सभी पाकिस्तान निर्मित हैं। आतंकियों ने इसे अपने साथ रखा था ताकि जरूरत पड़ने पर उपयोग किया जा सके। इन खाद्य पदार्थो का सेवन कर वे कई दिन बिना खाना के भी गुजार सकते थे। इसलिए सीमा पार करते समय आतंकी इस प्रकार का सामान अपने साथ रखते हैं।

Posted By: Jagran