जागरण न्यूज नेटवर्क, पुंछ/कठुआ : पाकिस्तान ने शुक्रवार को फिर नियंत्रण रेखा पर पुंछ के देगवार सेक्टर और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कठुआ के हीरानगर सेक्टर में भारी गोलाबारी की। पाकिस्तान ने भारत की चौकियों के अलावा रिहायशी क्षेत्रों को भी निशाना बनाया। भारत ने भी कड़ी जवाबी कार्रवाई की। देर रात तक हीरानगर में गोलाबारी जारी रही और सीमांत लोग जान बचाने के लिए रातभर बंकरों में छिपे रहे।

पाकिस्तान पांच अगस्त से ही कभी हीरानगर सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा तो कभी नियंत्रण रेखा पर राजौरी, पुंछ और उड़ी में लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रहा है। गुरुवार को उड़ी में पाक गोलाबारी के चलते एक नागरिक की मौत भी हो गई थी। शुक्रवार सुबह करीब सात बजे पाकिस्तानी सेना ने देगवार सेक्टर में एकाएक गोलाबारी शुरू कर दी। सूत्रों के अनुसार, इस गोलाबारी की आड़ में पाक सेना आतंकियों के दल को भारतीय क्षेत्र में दाखिल करवाने का प्रयास कर रही थी, जिसे सीमा पर तैनात जवानों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए विफल कर दिया। इसके बाद पाक सेना ने भारतीय सेना की अग्रिम चौकियों के साथ-साथ रिहायशी क्षेत्रों पर मोर्टार दागने शुरू कर दिए। कई गोले अग्रिम गांवों में गिरे। भारतीय सेना की कड़ी जवाबी कार्रवाई के बाद पाक सेना ने करीब 11 बजे गोलाबारी बंद की।

इधर, अंतरराष्ट्रीय सीमा पर एक दिन की शांति के बाद पाकिस्तान ने फिर हीरानगर के मन्यारी व पानसर में शुक्रवार रात भारी गोलाबारी शुरू कर दी। छोटी बंदूकों के साथ पाकिस्तान ने मोर्टार शेल भी दागे। रात को अपनी जान बचाने के लिए लोग बंकरों व घरों के भीतर दुबके रहे। इस दौरान बीएसएफ ने भी पाकिस्तान की गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। इससे एक दिन पहले पाकिस्तान की गोलाबारी में मन्यारी गांव में भारी नुकसान पहुंचाया था। इसमें दो घरों को आग लगने के साथ कई मवेशी भी घायल हो गए थे। हालात का जायजा लेने आए कठुआ के जिला उपायुक्त ने बंकर में रात गुजारी थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस