जेएनएन, पुंछ/कठुआ : पाकिस्तानी सेना ने वीरवार को फिर जम्मू संभाग में नियंत्रण रेखा (एलओसी) से लेकर अंतरराष्ट्रीय सीमा (आइबी) तक भारी गोलाबारी की। पाक सेना ने एलओसी से सटे पुंछ जिला के शाहपुर किरनी सेक्टर में दोपहर करीब  एक बजे भारतीय सेना की अग्रिम चौकियों पर छोटे हथियार से गोलाबारी शुरू  कर दी। भारतीय सेना के जवानों ने जब जवाबी कारवाई शुरू की तो रिहायशी इलाकों में मोर्टार दागने शुरू कर दिए।

गोलाबारी से शाहपुर किरनी सेक्टर में गोलाबारी से हड़कंप मच गया। लोग  सुरक्षित स्थानों की तरफ भागे। जिन लोगों के घरो के नजदीक बंकर बने हैं, उन्होंने वहां शरण ली। पाक सेना कई दिनों से गोलाबारी कर आतंकियों की घुसपैठ करवाने की कोशिश कर रही है। भारतीय सेना की कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना की कई चौकियां तबाह हुई हैं और कई घुसपैठिए भी मारे गए हैं। इसके बावजूद पाक सेना अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है।

वहीं, पाक रेंजर्स ने आइबी से सटे कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर में बुधवार की रात भी चकचंगा व छनटाडा गावों में गोलीबारी की, जो वीरवार सुबह तक रुक-रुक कर जारी रही। बुधवार शाम करीब दस बजे पाक रेंजरों ने पप्पू पोस्ट से गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें से कुछ गोलिया चकचंगा निवासी बनारसी दास के घर की दीवारों में लगी। गनीमत रही कि परिवार के लोग उस समय बंकर के अंदर पहुंच चुके थे, जिससे कोई नुकसान नहीं हुआ। सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के जवानों ने भी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। इसके बाद सुबह करीब पाच बजे गोलीबारी बंद हो गई। सुबह स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) व पुलिस के जवानों ने गावों का दौरा कर नुकसान का जायजा लिया। दो दिनों में सात जिदा मोर्टार निष्क्रिय

संवाद सहयोगी, पुंछ : जिला पुंछ के मेंढर तहसील में अलग-अलग स्थानों पर भारतीय सेना के बम निरोधक दस्ते ने दो दिन में सात जिदा मोर्टार को निष्क्रिय बनाया। वीरवार को भारतीय सेना की रोमियो फोर्स के जवानों ने मेंढर में एलओसी से सटे गांव से जिदा मोर्टार को खोजना शुरू किया। गांवों में लोगों से पूछताछ शुरू की। इसके बाद मेंढर, मनकोट, बालाकोट व कृष्णा घाटी सेक्टर से छह मोर्टार को खोज कर निष्क्रिय बनाया। इस से पूर्व बुधवार को भी बम निरोधक दस्ते ने मेंढर बस स्टैंड के नजदीक नाले से एक जिदा मोर्टार को निष्क्रिय बनाया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस