जागरण संवाददाता, राजौरी : केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के विशेष डीजी एसएन श्रीवास्तव, आईजी एवी चौहान, नीतू कुमारी डीआइजी सीआरपीएफ ने सीमावर्ती जिला राजौरी व पुंछ का दौरा कर जवानों से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनी व और बेहतर कार्य के लिए जवानों के साथ विचार विमर्श किया और सुरक्षा संबंधी उपायों और क्षेत्र में सुरक्षा व शांति की सराहना की। एडीजीपी सीआरपीएफ अन्य अधिकारियों सहित पहले हवाई रास्ते से पुंछ पहुंचे और वहां पर जवानों-अधिकारियों से मुलाकात कर क्षेत्र का सुरक्षा जायजा लिया।

उसके उपरांत सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी सेना राणे हवाई पट्टी राजौरी पहुंचे और वहां से सड़क मार्ग के रास्ते से जिला पुलिस लाइन राजौरी सीआरपीएफ की 72वीं बटलियन में पहुंचे और सीआरपीएफ की 72वीं बटालियन जवानों से मिले और वह मौजूदा समय में किस हालात में अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहे है व सुरक्षा स्थिति को ओर बेहतर ढंग से करने के लिए जवानों से बहुमूल्य सुझाव लिए।

इस मौके पर जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीआइजी राजौरी-पुंछ रेंज दीपक कुमार सलाथिया, एडीडीसी अवतार ¨सह चिब, सेना अधिकारी बरजेश पठानियां, सुनील कुमार, एसएसपी राजौरी जुगल मन्हास, सेकंड कमांडेंट डीपी भारद्वाज, सीआरपीएफ डिप्टी कमांडेंट आरएन चौधरी मौजूद रहे।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि पाकिस्तान सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर जम्मू-कश्मीर में मौजूद अपने ग्रुप के साथ बड़ी आसानी से संपर्क में रहकर आंतक को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है। इनके सोशल मीडिया नेटवर्क को ब्लॉक कर उनकी नपाक हरकतों पर शिकंजा कसा जाएगा। इसके लिए खुफिया ¨वग कार्य कर रही है। सीमापार बैठे आंतकी घुसपैठ की दिन रात फिराक मे रहते है, लेकिन सुरक्षा के कड़े इंतजामों के चलते उन्हें मुंह की खानी पड़ रही है। कश्मीर घाटी में पत्थरबाजी घटनाओं में कमी आई है व स्थिति में सुधार है।

Posted By: Jagran