जागरण संवाददाता, पुंछ : राजकीय मेडिकल कालेज में उपचाराधीन शुगम बाली की हालत और बिगड़ गई है। डॉक्टरों की टीम ने शुगम बाली का आपरेशन किया, लेकिन इसके बाद भी उसके स्वास्थ्य में सुधार नहीं हो रहा है। पुलिस अभी तक शुगम बाली व उसके अन्य साथी हिमांशु चड्डा को बंदी बनाकर मारपीट करने वालों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। जिस कारण से पीड़ित परिवारों के सदस्यों में भी रोष बढ़ता ही जा रहा है।

सोमवार को शुगम बाली व इसके साथ हिमांशु चड्डा को हरनी क्षेत्र में कुछ लोगों ने अगवा करके इनको बंदी बनाकर इन दोनों को यातनाएं देकर मारपीट की। जिससे दोनों काफी गंभीर रूप से घायल हो गए, लेकिन मारपीट में सबसे अधिक चोट शुगम बाली को आई है और वह राजकीय मेडिकल कालेज में ¨जदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है। शगुन के परिजनों का कहना है कि उनके बेटे की हालत काफी गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों ने इसका एक आपरेशन किया है, लेकिन इसके बावजूद भी उसके स्वास्थ्य में कोई भी सुधार नहीं देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने दोनों युवकों के साथ मारपीट की। उन्होंने पुलिस में घर में जबरन घुसकर महिलाओं के साथ छेड़छाड़ व दुष्कर्म का झूठा मामला दोनों युवकों के खिलाफ दर्ज कराया है। पीड़ितों की तरफ से दायर एफआईआर पर पुलिस कोई भी कार्रवाई नहीं कर रही है। आरोपी अभी तक जान से मारने की धमकी दे रहे है। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की गंभीरता से जांच करे और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करे, अन्यथा पीड़ित परिवार के सदस्य सड़क पर उतरकर जोरदार प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं।

Posted By: Jagran