श्रीनगर, [राज्य ब्यूरो] । अगलरकंडी, पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के तीन खूंखार आतंकियों को मार गिराते शहीद हुए सैन्यकर्मी ब्रहमपाल सिंह का तिरंगे में लिपटा पार्थिव शरीर मंगलवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ हवाई जहाज से उसके परिजनों के पास भेजा गया।

गौरतलब है कि सोमवार की रात अगलरकंडी में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी, जिसमें जैश के तीन आतंकी वसीम, तल्हा रशीद और महमूद भाई मारे गए थे। जबकि एक सैन्यकर्मी शहीद हो गया था। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि शहीद सैन्यकर्मी ब्रहमपाल सिंह को मंगलवार बादामीबाग स्थित सैन्य छावनी में एक भावपूर्ण समारोह में श्रद्घांजलि अर्पित की गई।

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में जिला बुलंदशहर के अंतर्गत गांव शौजरानी, डाकखाना ऊंचा गांव के रहने वाले ब्रहमपाल सिंह अपने साथियों के साथ आतंकियों को उनके ठिकाने के भीतर मार गिराने के प्रयास में आतंकियों की गोली से जख्मी हो गए थे। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां अपने जख्मों की ताव न सहते हुए चल बसे।

उन्होंने बताया कि 13 वर्षाें से सेना में अपनी सेवाएं देते शहीद हुए ब्रहमपाल सिंह के परिवार में उनकी पत्नी संगीता रानी, दो बेटियां और एक तीन साल का बेटा है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि आज शहीद को चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जेएस संधु समेत सेना के वरिष्ठ अधिकारियों और जवानों ने पुष्पचक्र और फूल मालाएं भेंट कर श्रद्घांजलि अर्पित की। शहीद को श्रद्घासुमन अर्पित करने राज्य प्रशासन, राज्य पुलिस और विभिन्न केंद्रीय अर्धसैनिकबलों के वरिष्ठ अधिकारी भी आए।

प्रवक्ता ने बताया कि श्रद्घांजलि समारोह के बाद शहीद का पार्थिव शरीर हवाई जहाज से उनके परिजनों तक पहुंचाया गया। शहीद का अंतिम संस्कार उसके पैतृक स्थल पर ही पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा।

 

यह भी पढ़ें: आतंकवाद को हवा देने के लिए पहुंचा था तल्हा

Posted By: Preeti jha