जागरण संवाददाता, कठुआ : जिले में कोरोना फिर पांव पसारने लगा है। वीरवार को दो नए कोरोना पाजिटिव मामले पाए गए हैं। इसमें एक डिग्री कालेज कठुआ की छात्रा और एक बसोहली के पलासी में नया पाजिटिव पाया गया है। कालेज में छात्रा के पाजिटिव आने पर सीएमओ डा. अशोक चौधरी के निर्देश पर कक्षा के अन्य विद्याíथयों का स्वास्थ विभाग की मोबाइल टीम ने टेस्ट किया। इसमें पाजिटिव छात्रा की कक्षा के 38 और विद्याíथयों का कोरोना टेस्ट किया गया। इसकी रिपोर्ट शुक्रवार को आएगी। इसी बीच सकता चक में एक ही परिवार के चार सदस्यों के पाजिटिव आने के बाद उनके संपर्क में आए एक अन्य रिश्तेदार का भी कोरोना टेस्ट किया गया। इन नए मामलों के आने से स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है।

इस बीच अब जिले में अब कोरोना पाजिटिव की संख्या 6 हो गई हैं। हालाकि 23 फरवरी तक जिला कोरोना से पूरी तरह मुक्त था। उसके बाद आठ नए पाजिटिव पाए गए, जिसमें से दो स्वस्थ हुए हैं। इसके चलते जिला में 6 कोरोना से सक्रिय मामले अभी भी हैं।

सीएमओ डा. अशोक चौधरी ने कहा कि लोगों को कोरोना से बचाव के लिए अभी भी लापरवाह नहीं होना चाहिए, क्योंकि अभी भी मामले आते जा रहे हैं। इसके चलते लोगों को बचाव के लिए एहतियात बरतने होंगे। स्कूल, कालेज, बाजार व यात्री वाहनों आदि भीड़भाड़ वाले स्थानों पर मास्क अवश्य पहनें और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। सकता चक का 500 मीटर क्षेत्र हाट स्पाट घोषित

जागरण संवाददाता, कठुआ : कोरोना से मुक्त हो चुके कठुआ जिले में 23 फरवरी के बाद फिर नए पाजिटिव मामले आने से वीरवार को सकता चक गांव का 500 मीटर क्षेत्र हाट स्पाट घोषित किया गया है। इस गांव में एक ही परिवार के 4 सदस्यों सहित 5 लोग दो दिन पहले पाजिटिव पाए गए हैं। गांव में अन्य को भी संक्रमण फैलने का खतरा देखते हुए जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन डीसी ओपी भगत ने गांव में संक्रमित परिवार के घर के आसपास के 500 मीटर क्षेत्र को हाट स्पाट घोषित कर दिया है। डीसी ने स्वास्थ विभाग को वहां अपनी टीम भेज कर संक्रमण के और लोगों को फैलने के खतरे को देखते हुए रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश जारी किए हैं। बता दें करीब पांच महीने के बाद किे में दोबारा किसी क्षेत्र को कोरोना संक्रमण फैलने के कारण हाट स्पाट बनाया गया है।

955 बुजुर्गो ने लगवाया टीका

कोरोना महामारी के जिले में दोबारा फैलने के बीच अब आम लोगों में कोरोना टीका लगवाने की होड़ लग गई है। स्वास्थ्य कर्मचारी, फ्रंटलाइन वर्कर्स के बाद अभ वरिष्ठ नागरिकों को टीका लगाने का क्रम जारी है। इसके चलते टीका लगाने को लेकर वरिष्ठ नागरिक बड़ी संख्या में टीकाकरण सेंटर में पहुंच रहे हैं। टीका लगाने की होड़ को देखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग ने अब 35 स्वास्थ्य संस्थानों में इसकी सुविधा कर दी है। इससे अब हर कोई टीका लगाने के लिए उत्सुक दिख रहा है। वीरवार जिले में 955 वरिष्ठ नागरिकों ने टीके के लाभ उठाया। इसमें सबसे ज्यादा 299 ने हीरानगर सीएचसी में, 234 ने बिलावर में, 216 ने जीएमसी कठुआ में, 179 ने परोल, 26 ने बसोहली में और बनी में सिर्फ 1 ने ही टीका लगवाया। बीते तीन दिन में अभी तक करीब डेढ़ हजार वरिष्ठ नागरिकों ने कोरोना टीका का लाभ ले लिया है। इसी तरह जिला में कोरोना की पहली डोज लेने वाले स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या 120 रही, जबकि दूसरी डोज लेने वालों की संख्या 187 रही। अब दूसरी डोज स्वास्थ्य कíमयों के अलावा फ्रंटलाइन वर्कर्स भी लेना शुरू कर दिए हैं। कुल मिलाकर जिले में वीरवार को 1301 ने कोरोना वैक्सीन का लाभ उठाया। इसमें 1114 ने पहली और 187 ने दूसरी डोज ली। जिला भर में अब कोरोना वैक्सीनेशन की प्रक्रिया तेजी से शुरू हो चुकी है। अब लोगों में इसके प्रति कोई भी डर नहीं रहा है। लोग खुद आगे लगाने के लिए आ रहे हैं। विभाग के पास पर्याप्त मात्रा में कोरोना वैक्सीन हर सेंटर में उपलब्ध है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप