जागरण संवाददाता, कठुआ : कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बाद कोई भी इससे बचाव करने के लिए गंभीर नहीं दिख रहा है, इसमें आम लोगों के अलावा सरकारी संस्थानों एवं राजनीतिक मंचों पर भी शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो रहा है। आम लोगों को जागरूक करने वाले खुद भी अपने मंचों पर इसकी रोकने में असफल साबित हो रहे हैं। जिससे कोरोना वायरस अब समुदाय में फैलने की आशंका बनी है। इसी के चलते सरकार द्वारा हाल ही में हर किसी के लिए अनिवार्य किए गए डोमिसाइल बनाने को जिला मुख्यालय पर डीसी कार्यालय परिसर में होड़ लग गई है। मंगलवार इसका नजारा देखने को मिला। जिसमें सैकड़ों की संख्या में विशेषकर युवा, जो सरकार द्वारा निकाली गई नौकरी की भर्ती के चलते डोमीसाइल बनाने के लिए उमड़ रहे हैं। उमड़ी भीड़ को देखकर लगता है कि अगर सरकारी कार्यालयों के सामने कोई भी विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं जारी एसओपी की पालना नहीं हो रही है तो अन्य स्थानों पर क्या हाल होगा। एक दूसरे पर लाइन में लगे युवा चढ़े हुए दिख रहे हैं और तो कई युवाओं ने मास्क भी नहीं पहने हैं। जिससे संक्रमण फैलने की ऐसे हालात में संभावना बनी रहती है।

उधर, रामकोट के भाजपा के एक संगठन के कार्यक्रम में भी कार्यकर्ता शारीरिक दूरी की पालना करते नहीं दिख रहे हैं। जिसमें कई कार्यकर्ता बिना मास्क के बैठे हैं। इसी कार्यक्रम मास्क और शारीरिक दूरी का पालना करने का नेता पाठ भी पढ़ा रहे हैं, खुद कितना पालन कर रहे हैं, कार्यक्रम देखकर साफ अनुमान लगाया जा सकता है। ऐसे में आम लोगों से क्या उम्मीद की जा सकती है। इधर, कठुआ के बाजारों को देखा जाए तो खरीदारी के लिए भीड़ उमड़ी रहती है।

Edited By: Jagran