जागरण संवाददाता, कठुआ: फिट इंडिया कैंपेन के तहत शनिवार को आयुर्वेद व योग विशेषज्ञ डॉ. गुरु प्रसाद शर्मा द्वारा डीएवी स्कूल लच्छीपुर में विद्यार्थियों व स्कूल स्टाफ को तनाव से मुक्त होकर खुशहाल व स्वस्थ्य जिंदगी जीने के लिए योग के गुर सिखाए।

बच्चों व स्कूल स्टाफ को योग की महत्वता बताते हुए कहा कि आज योग हर आयु, हर वर्ग के व्यक्ति के लिए नियमित दिनचर्या में शामिल करना एक आवश्यकता बन गया है। तनाव का होना स्वाभाविक है, योग का नियमित अभ्यास हमें मानसिक व भावनात्मक तौर पर इतना मजबूत बनाता है कि हम इस तनाव का सामना कर उस समस्या का समाधान करने में सक्षम हो जाते हैं। योग का नियमित व अनुशासित अभ्यास बच्चों में एकाग्रता का विकास करता है, भ्रामरी व नाड़ी शुद्दि प्राणायाम आदि से एकाग्रता के साथ साथ उनकी यादाश्त में भी बढ़ोतरी होती है।

उन्होंने कहा कि युवा व एडोलसेंट विद्यार्थियों को आधुनिक समय में अक्सर तनाव के कारण चिड़चिड़ापन, क्रोध, बदतमीजी से ग्रस्त देखा जा सकता है, जिस कारण वह समय व परिस्थिति का आभास न करते हुए मानसिक व भावनात्मक तौर पर परेशान व जूझते हुए दिखते हैं। योग हमें हर परेशानी में  समझदारी से कार्य करने में मदद करता है। शिक्षकों को योग के बारे में बताते हुए कहा कि शिक्षक ही उज्ज्वल भविष्य के निर्माता होते हैं, इसलिए उनका संयमित व मानसिक रूप से ²ढ़ रहना •ारूरी होता है। योग शिक्षकों में आत्म विश्वास व निर्णय लेने की क्षमता को बढ़ाता है।

स्कूल प्रधानाचार्या मीनाक्षी जम्वाल, प्रशासक सुरेश महाजन, स्टाफ सदस्य व बच्चों ने योग सत्र का लाभ लिया व आनंद की अनुभूति महसूस की।

डॉ. गुरु प्रसाद शर्मा ने स्कूल प्रशासन का आभार व्यक्त किया व योग को विद्यार्थियों व स्कूल स्टाफ के लिए स्कूल की नियमित दिनचर्या का हिस्सा बनाने का आह्वान किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस