संवाद सहयोगी, हीरानगर: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से हो रही गोलीबारी को देखते हुए सरकार ने सीमावर्ती गांवों में बंकर निर्माण कार्य जल्द मुकम्मल करवाने के निर्देश दिए हैं। जिन गांवों में भूजल स्तर ऊपर होने की वजह से कुछ लोगों के बंकर नहीं बने थे, उसके लिए डीसी ओपी भगत ने एक छह सदस्यीय टीम का गठन किया है। इस टीम में तहसीलदार हीरानगर सोहनलाल, तहसीलदार मढीन जतिद्र सिंह, आरईडब्ल्यू कठुआ एक्सईएन केके शर्मा, पीडब्ल्यूडी हीरानगर एइइ केके अत्री, एइइ सुदेश गुप्ता, विनोद मंसोतरा टीओ कठुआ शामिल हैं।

संबंधित टीम ने रविवार को हीरानगर के मांडयाल, जवाहर चक, देवो चक, गयाल बंड , हरिपुर सेनी, पहाड़पुर, महाराजपुर आदि गांवों का दौरा कर भूमि का निरीक्षण किया तथा स्थानीय लोगों की राय ली। इसकी जानकारी देते हुए पीडब्ल्यूडी हीरानगर सब डिवीजन के एईई केके अत्री ने बताया कि सब डिवीजन के सीमावर्ती गांवों में 2114 बंकर बनने थे, इनमें से 1220 का काम शुरू हुआ था, जिसमें 1170 का काम मुकम्मल हो चुका है। कुछ गांवों में भूजल स्तर काफी उपर है, जिसकी वजह से काम रूका हुआ था, जब ठेकेदार गढडा खोदते थे तो पानी आ जाता था। अब कमेटी के सदस्य गांवों का दौरा कर देखेंगे कि ऐसी जगह पर कैसे बंकर बन सकता है। दौरे के बाद कमेटी अपना सुझाव डीसी को सौंपेंगे। कुछ लोगों के घरों में बंकर के लिए पर्याप्त जमीन नहीं थी, उसपर भी सरकार विचार कर रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस