संवाद सहयोगी, हीरानगर: प्रशासन ने बाहर से आने वाले लोगों को क्षेत्र के 36 के करीब क्वारंटाइन सेंटरों में तो ठहरा दिया है, लेकिन क्वारंटाइन केंद्र में रह रहे लोग मिली सुविधाओं से संतुष्ट नहीं है।

हीरानगर सामुदायिक भवन सेंटर में ठहरे अश्विनी कुमार, जतिदर कुमार, अंकू शर्मा, अमर सिंह ने कहा कि इस सेंटर में 34 के करीब लोग हैं। जिन की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद भी उन्हें छोड़ा नहीं गया और ना ही उन्हें अच्छा खाना मिलता है। उन्होंने कहा कि सेंटरों में चाय तक नहीं दी जाती और खाने में लगातार चावल दिए जा रहे हैं, उनमें से कुछ लोग चावल नहीं खाते। उन्होंने कहा कि जब सरकार खाने पीने का खर्चा दे रही है तो उन्हें भरपेट खाना व चाय मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एक तो उन्हें अपने क्षेत्र में पंहुचने में कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ी। अब यहां उनके साथ भी सही व्यवहार नहीं किया जाता।

वहीं एसडीएम राकेश कुमार का कहना है कि कुछ लोग शिकायत कर रहे थे, अब उन्हीं की पसंद खा खाना दिया जा रहा है। जिन लोगों की रिपोर्ट आ गई है उनकी सूची बनाई जा रही है, जल्द ही घरों को भेज दिए जाएंगे। कुछ सेंटरों से पॉजिटिव केस आए थे, उनकी दोबारा सैंपलिग करवानी पड़ी थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस