संवाद सहयोगी, बनी: पंचायत धोलका के गांव डंडी गुटू के लोगों ने बिजली विभाग पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए रोष प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। गांव में कई दिनों से बिजली नहीं रहने के कारण ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने कहा कि अगर गांव डंडी गुटू के ग्रामीण पाकिस्तान के हैं तो पाकिस्तान भेज दिया जाए, क्योंकि बिजली विभाग ग्रामीणों के साथ भेदभाव कर रहा है। ग्रामीण ठंड के इस मौसम में बर्फबारी से जूझ रहे हैं। सरपंच मनोहर लाल ने कहा कि गांव में बिजली की तारें और बिजली का खंभा का इतना बुरा हाल है कि बिजली की तारे जमीन के साथ लगी हुई है। चंद दिन पहले गांव में पीएमजीएसवाई विभाग का एक सब कंट्रेक्टर का करंट लगने से मृत्यु हो गई थी जो कि बिजली विभाग की ही लापरवाही से हुआ। बिजली कर्मचारी न तो तार और खंभे को ठीक करने के लिए आते हैं और न ही बिजली के बिल हर महीने लेकर लोगों के घर में पहुंच जाते हैं। इस संबंधी कई बार एसडीएम को भी बताया गया, लेकिन अभी तक प्रशासन की तरफ से गांव में बिजली के ढांचे को ठीक करने का कोई भी प्रयास नहीं किया गया। मनोहर लाल ने कहा कि अगर गांव में बिजली की तारे और खंभे को ठीक नहीं किया गया तो ग्रामीण आंदोलन और तेज करने को मजबूर होंगे।

संवाद सहयोगी, बनी: तहसील के दूरदराज गाव डग्गर के लोगों ने सोमवार देर शाम कैंडल जलाकर प्रदर्शन किया और प्रशासन और बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

गाव में बीते तीन सप्ताह से बिजली का ट्रासफार्मर खराब पड़ा हुआ है, लेकिन तीन सप्ताह बीत जाने के बाद बिजली विभाग ने गाव में नया ट्रासफार्मर नहीं लगाया। एक तरफ लोग बर्फबारी से पूरी तरह परेशान हैं, ऊपर से बिजली सप्लाई नहीं होने के कारण कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। लगातार बिना बिजली के ही बिजली विभाग बिल घरों में भेज रहा है। ग्रामीणों ने माग कि अगर जल्द ही गाव में बिजली का ट्रासफार्मर नहीं लगाया गया तो प्रदर्शन तेज किया जाएगा।

Edited By: Jagran