संवाद सहयोगी, बिलावर: म्यूनिसिपल कमेटी की उपेक्षा के कारण पिछले डेढ़ दशक से मुंडुई से किशनपुर पंचायत को जाने वाली सर्कुलर रोड बदहाली का शिकार बनी हुई है। जिस पर इन दिनों पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है।

कई वर्ष पूर्व चार किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण किया गया था। जिसे आज तक ब्लैक टॉप तक नहीं किया गया है। इसके चलते मुंडुई से किशनपुर को जाने वाई सड़क पर इंसानों का तो दूर, जानवरों तक का चलना मुश्किल हो गया है। मुंडुई निवासी ओम प्रकाश, जोगेंद्र कुमार, जसवंत सिंह, गोपाल सिंह आदि ने बताया कि चार किलोमीटर लंबी सड़क को बने हुए 15 वर्ष से अधिक हो चला है। उपजिले में हर जगह सड़कों को विस्तारीकरण करने के साथ-साथ ब्लैक टॉप किया जा रहा है, लेकिन सरकार ने आज तक मुंडुई से किशनपुर सड़क को ब्लैक टॉप नहीं किया। पानी निकासी की इंतजाम भी नहीं किए गए हैं, जिससे बरसात के दिनों में काफी परेशानी उठानी पड़ती है। उन्होंने कहा कि कई बार अधिकारियों के साथ नगर कमेटी को भी इस सड़क की सुध लेने को कहा गया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसकी वजह से आज तक सड़क कच्ची है। लोगों ने माग की कि जल्द से जल्द चार किलोमीटर इस सड़क के किनारे पानी की निकासी के इंतजाम सुनिश्चित किए जाएं और सड़क को जल्द से जल्द ब्लैक टॉप किया जाए। वार्ड 4 के पार्षद रमेश कुमार ने बताया कि उक्त सड़क को ब्लैक टॉप करने का मुद्दा कई बार उठाया गया, लेकिन फंडस के अभाव के चलते हर बार सड़क को ब्लैक टॉप करने का मुद्दा ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।

Edited By: Jagran