करुण शर्मा, बिलावर: सर्दियों के मौसम में भी पेयजल संकट गहराया हुआ है। इसी से सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि गर्मी के मौसम में उपजिले के लोगों के क्या हाल रहते होंगे।

गौर हो कि ब्लॉक दिवस पर आयोजित जनता दरबार कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों की ओर से पानी की समस्या को ही प्रमुखता से उठाया जाता है, क्योंकि गर्मी के मौसम में प्राकृतिक पेयजल स्त्रोत बिल्कुल सूख जाता है और लोगों को बूंद-बूंद पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है। हालांकि, गर्मी के मौसम में टैंकरों से पेयजल सप्लाई करने का अधिकारी दावा करते रहे हैं, लेकिन अब ठंड के मौसम में भी लोगों को दो बूंद पानी के लिए तरसना पड़ रहा है।

अगर उपजिले की तीन तहसीलों की ही बात की जाए तो अधिकांश पंचायतों में लगे हैंडपंप खराब पड़े हुए हैं। जो चल रहे हैं वह लोगों की पेयजल समस्या दूर करने में नाकाफी साबित हो रहे हैं। खराब हैंडपंपों को ठीक करवाने का मुद्दा हर सप्ताह ब्लॉक दिवस कार्यक्रम के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष भी उठता रहा है।

पहाड़ी ब्लाक डुग्गैनी हो या फिर बिलावर के कोटी, बग्गन, देलेयू, बाथर, मालती, मड़हून, सुकराला देवी, रिया टांडी आदि क्षेत्रों में पेयजल समस्या हर मौसम में ही गहराई रहती है। इसके कारण लोग प्राकृतिक जल स्त्रोतों पर ही पीने के पानी के लिए निर्भर रहते हैं, जबकि गर्मियों के सीजन में प्राकृतिक जलस्त्रोत सूख जाते हैं। इसके चलते पेयजल संकट और भी विकराल रूप धारण कर लेता है। बाक्स---

जल जीवन मिशन को है फंड्स की दरकार

केंद्र सरकार के घर-घर नल योजना जल जीवन मिशन प्रोजेक्ट के तहत जल शक्ति विभाग द्वारा बिलावर उपजिले के छह ब्लॉकों के अलावा महानपुर तहसील की दो पंचायतों के लिए योजनाएं बनाई गई है, जिससे करीब बिलावर जल शक्ति सब डिवीजन के अधीन आती करीब दो लाख आबादी को फायदा होना है। सूखे कंठ को स्वच्छ पेयजल से तर करने के लिए जल शक्ति विभाग द्वारा करीब 12989.35 लाख रुपये का प्रोजेक्ट बनाकर सरकार को भेजा गया है। पहले फेज में सरकार द्वारा कठुआ जिले कि तीन ब्लॉकों को चुना गया है, जिसमें बिलावर के बग्गन ब्लॉक को प्रायटी (प्राथमिकता) देते हुए ब्लॉक के लिए 3789.70 लाख के प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो बग्गन ब्लॉक के लिए जल शक्ति विभाग की योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए जल्द ही भविष्य में काम शुरू हो जाएगा।

बॉक्स

कौन से ब्लॉक के लिए कितने का प्रोजेक्ट

ब्लॉक- पंचायतें -प्रोजेक्ट की लागत

बिलावर- 10 -4661.61

मांडली - 8 --- 3910.61

बग्गन---5 ---3789.70

नगरोटा---16 ---9684.11

महानपुर---2 ---1213.99

डूग्गैनी--- 3---2091.25 बॉक्स

क्या है जल शक्ति मिशन

जल शक्ति विभाग द्वारा भविष्य को केंद्रित करते हुए 30 साल का प्रोजेक्ट बनाया गया है जो कि पहले 15 वर्षो के लिए ही प्रायोजित होता था। इस प्रोजेक्ट के तहत प्रति व्यक्ति को 55 लीटर पानी देना विभाग का मिशन होगा। इसके लिए विभाग द्वारा बिलावर सब रीजन के लिए 12989.35 लाख का प्रोजेक्ट बनाया गया है, जिसमें नए पेयजल के सोर्स पानी की स्टोरेज के लिए नए डगवेल, रिजरवायर, नया पाइप लाइन बिछाना आदि प्रस्तावित है, ताकि आने वाले 30 सालों के लिए लोगों को पेयजल की आपूर्ति होती रहे और लोगों की जरूरतें पूरी हो सके।

कोट्स

बिलावर उप जिला के छह ब्लॉकों के लिए 12989.35 लाख का प्रोजेक्ट विभाग द्वारा जल जीवन मिशन के तहत बनाकर भेजा गया है। इसके लिए पंचायतों बीडीसी चेयरपर्सन और जिला विकास आयुक्त से प्रोजेक्ट को मंजूरी दिलाकर विभाग के चीफ इंजीनियर कार्यालय में टेंडर के लिए भेज दिया गया है ।

- अनिल जंजुआ, अतिरिक्त कार्यकारी अभियंता, जल शक्ति विभाग बिलावर

कोट्स

बिलावर उपजिला में सबसे ज्यादा ज्वलंत मुद्दा पेयजल की समस्या है। इस समस्या को दूर करने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि उपजिले में पेयजल समस्या को दूर करने के लिए तुरंत ठोस कदम उठाया जाए।

- संदेश कुमार शर्मा, एडीसी कोट्स

हर सप्ताह ब्लाक दिवस कार्यक्रम के दौरान पेयजल की विभिन्न पंचायतों में पेश आ रही समस्याओं को उठाया जा रहा है। इससे अधिकारियों के संज्ञान में पेयजल समस्या को लाकर उसके शीघ्र समाधान के लिए प्रयास हो सके, ताकि लोगों को राहत मिल सके।

- अशोक कुमार सपोलिया, बीडीसी चेयरमैन, बिलावर ब्लॉक

Edited By: Jagran