जागरण संवाददाता, कठुआ: जिला ट्रांसपोर्ट कार्यालय के सहयोग से रेड रिब्बन क्लब ने महिला डिग्री कॉलेज में इंट्रा-कॉलेज पोस्टर मेकिग प्रतियोगिता का आयोजन किया, जिसकी शुरुआत डिग्री कॉलेज के प्रार्चाय प्रो. रंजीत सिंह जम्वाल ने की।

उन्होंने कॉलेज में इस तरह की गतिविधि के आयोजन के लिए रेड-रिबन क्लब के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि वर्तमान में युवा ज्यादा जागरूक नहीं हैं जो समाज के लिए स्वस्थ संकेत नहीं है, ऐसे माहौल में युवा पीढ़ी सुरक्षित नहीं रह सकती है। इस स्थिति पर अंकुश लगाने और ट्रैफिक अवेयरनेस प्रोग्राम पर प्रतियोगिता, सेमिनार, पोस्टर और पोस्टर मेकिग से युवाओं को आकर्षित करने का यह सही समय है। आरटीओ डॉ.राज कुमार थापा ने प्रतिभागियों के साथ बातचीत की, उन्होंने छात्रों को उनके प्रयासों के लिए प्रोत्साहित किया, जिन्होंने ट्रैफिक नियमों के संबंध में पोस्टर प्रस्तुत करके अपने विचार प्रस्तुत किया। कार्यक्रम अधिकारी कॉलेज के रेड-रिबन क्लब के डॉ. अरुण देव सिंह क्लब के उद्देश्यों और इसके इतिहास पर प्रकाश डाला। उन्होंने कॉलेज के स्वयंसेवकों और छात्रों को अवगत कराया कि 1993 में रेड-रिबन क्लब की शुरुआत सरकार द्वारा की गई थी। क्लब के स्वयंसेवक सड़क सुरक्षा, एड्स, नशा मुक्ति रक्तदान और स्वच्छता महाविद्यालय के साथ-साथ आस-पास के गांवों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करेंगे। उन्होंने प्रतिभागियों की सराहना की, जिन्होंने सड़क सुरक्षा पर पोस्टर के माध्यम से अपने विचारों को प्रस्तुत किया।

गतिविधि में भाग लेने वाले तानिया गुप्ता पहले स्थान पर रही, जबकि प्रीति जसरोटिया दूसरे और वैशाली वर्मा तीसरे स्थान पर रहीं। प्रो.रविन्दर कौर, प्रो.माधवी पाराशर, प्रो. राज कुमारी और डॉ. गौतम सिंह ने जज के रुप में काम किया। डॉ. गौतम सिंह ने सभी प्रतिभागियों, अतिथियों और स्वयंसेवकों का धन्यवाद किया। इस अवसर पर एआरटीओ नीरज शर्मा, निरीक्षक कमल, इंस्पेक्टर विकास, प्रो. बबीता जम्वाल, डॉ. दीपक पठानिया, प्रो.अंबिका राजपूत, प्रो. शिवानी शर्मा, डॉ. राकेश जसरोटिया, प्रो. बरुण भट्टी, डॉ.वैष्णो, प्रो.अनु देवी और डॉ. सुरिदर सिंह आदि शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस