संवाद सहयोगी, कठुआ : शहर में होने के बावजूद वार्ड नंबर एक सरकारी अनदेखी का शिकार है। आलम यह है कि सफाई व्यवस्था काफी बदहाल है। स्ट्रीट लाइट का भी बुरा हाल है। गली खस्ताहाल होने की वजह से लोगों को पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है। उक्त समस्या को लेकर वार्डवासी कई बार नगर परिषद को अवगत करवा चुके हैं, इसके बावजूद कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। वार्ड एक में पीडब्ल्यूडी कॉलोनी व पलगेतर मोहल्ला है।

अगर वार्ड एक में सफाई व्यवस्था की बात करें तो आलम यह है कि वार्ड की नियमित सफाई नहीं किए जाने की वजह से गंदगी पसरी पड़ी है। पानी की निकासी रुकने से इलाके में बदबू और मच्छर बीमारियों को न्योता दे रही है। स्थानीय वासियों का कहना है कि न तो जिला प्रशासन और न ही कठुआ नगर परिषद वार्ड की ओेर किसी तरह का ध्यान दे रही हैं। सफाई कर्मी सिर्फ सुबह ही सफाई करने के लिए आते हैं, जिस वजह से सही तरीके से वार्ड में सफाई तक नहीं हो पाती है। वार्ड में डस्टबिन तो रखा गया है, लेकिन आलम यह कि डस्टबिन के बाहर गदंगी के ढेर लगे हुए हैं। मानों ऐसा लगता है कि महीने से इस जगह से गंदगी उठाई ही नहीं गई है। हल्की सी बारिश होते ही इलाके के लोगों का लोगों का जीना मुहाल हो जाता है।

इसी तरह कई वर्षों पहले बनी पड़ी वार्ड की गली की हालत इतनी खस्ता है कि सीवरेज का पानी गलियों के बीचो-बीच बहता रहता है। इस वजह से वार्ड में गंदगी का साम्राज्य है। वार्ड एक की सबसे पीछे वाली गली भी काफी खस्ताहाल है। गली देख कर ऐसा लगता है कि मानो वह गली नहीं बल्कि गली के बीचो बीच बना कोई गंदा नाला हो। वार्ड में छोटी-छोटी गलियां पूरी तरह से खराब स्थिति में है, लेकिन नगर परिषद द्वारा गलियों को ठीक करने संबंधी कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है।

वार्ड की स्ट्रीट लाईटें भी पूरी तरह से खराब पड़ी हुई है, जिसके चलते शाम होते ही वार्ड में अंधेरा पसर जाता है। बरसात के इस मौसम में गली में लोगो का आना-जाना लगा रहता है। स्ट्रीट लाईट खराब होने की वजह से अंधरे में लोगों को काफी दिक्कतें आ रही है। विभाग के कर्मचारियों से मोहल्लावासी कई बार गुहार लगा चुके है, लेकिन स्ट्रीट लाईट को ठीक तक नहीं किया जा रहा है। कोट्स--

नाली टूटने से सारा गंदा पानी गलियों के बाहर बहता रहता है, जिस वजह से बीमारी फैलने का खतरा बना रहता है। प्रशासन से मांग करते हैं कि वार्ड की समय-समय पर साफ सफाई करवाई जाए।

- बलवीर सिंह, वार्ड एक। कोट्स--

गंदगी के ढेर कई दिनों तक लगे रहते हैं। रोजाना कचरा उठाने के लिए गाड़ी आनी चाहिए, इससे लोगों को राहत मिलेगी। नगर परिषद को दावे करने से काम नहीं चलेगा। स्थानीय बाशिदों को इसका समाधान चाहिए।

- प्रवीण कुमार, वार्ड एक। कोट्स---

वार्ड के कई मोहल्ले में डस्टबिन तक नहीं रखा गया है, जिस वजह से लोग खुले में गंदगी फेंक रहे हैं। इस वजह से कूड़े के ढेर लग गए है, जिससे बीमारी फैलने का खतरा बना रहता है। नगर परिषद को चाहिए कि रोजाना लगे गंदगी के ढेर उठाएं।

- गगन कुमार, पलगेतर मोहल्ला।

कोट्स--

नालियों से गंदे पानी की निकासी बंद है। उन्हें गहरा करने के साथ निकासी ठीक की जानी चाहिए। निकासी नहीं होने से नालियों से उठती बदबू बीमारियों का सबब बन सकती है। मुख्य कारण गंदगी के ढेर लगा हुआ है सफाई कर्मचारी को रोजाना कचरो को उठाना चाहिए।

- बब्बू कुमार, पलगेतर मोहल्ला। कोट्स---

वार्ड की आखिर में जो गली है, वह काफी जर्जर है। गली के देखकर ऐसा नहीं लगता कि वह शहर में ही है। वह पूरी तरह से खराब हो चुकी है। देखने से ऐसा लगता है कि वह गली नहीं, बल्कि नाला हो। नगर परिषद से मांग करते है कि वार्ड 14 की जो गली है उसका निर्माण कार्य जल्द किया जाए।

- कमलेश देवी, वार्ड एक। कोट्स---

वार्ड की लगभग सभी स्ट्रीट लाईटें खराब पड़ी हुई है, जिस वजह से वार्ड की गलियों में सायं होते ही अंधेरा पसर जाता है। बरसात के इस मौसम में सांप बिच्छु का खतरा बना रहता है। नगर परिषद जल्द से जल्द वार्ड की स्ट्रीट लाईटें ठीक करवाए।

- संजय कुमार, पलगेतर मोहल्ला। कोट्स--

वार्ड की हालत में अभी तक कोई सुधार नहीं हुआ। वार्ड की सभी स्ट्रीट लाईटें खराब पड़ी हुई है। नगर परिषद के अधिकारियों से कई बार गुहार लगा चुके है, लेकिन अभी तक उसे ठीक नहीं किया गया।

- किरण कुमार, पलगेतर मोहल्ला।

कोट्स---बाक्स--

वार्ड के मुख्य गली के साथ लगती छोटी-छोटी गलियां काफी जर्जर है। कुछ वर्ष पहले गली का निर्माण कार्य किया गया, लेकिन कुछ गलियों को ऐसे ही छोड़ दिया गया। बरसात के इस मौसम में बारिश के बाद गलियों में चलना मुश्किल हो जाता है।

- तरसेम कुमार, पूर्व पार्षद, वार्ड एक।

कोट्स--बाक्स--

वार्ड में जो भी समस्याएं है, उसके समाधान के लिए लगातार प्रयास कर रही हूं। समय-समय पर इस बारे में नगर परिषद के कर्मचारियों के साथ विशेष सफाई अभियान भी चलाया जाता है। लोग भी अगर थोड़ा सहयोग करे तो समस्याएं काफी कम हो सकती है।

-मीरा कुमारी, पार्षद वार्ड एक। कोट्स--बाक्स--

जनसंख्या बढ़ने के साथ-साथ शहर का विस्तार हो रहा है। शहर के स्थान घनी आबादी वाले में स्थित है, उनमें वार्ड एक भी शामिल है जहां सफाई की कुछ समस्याएं है, जिसका जल्द समाधान किया जाएगा। अभी हाल के दिनों में उन्होंने पूरे शहर में स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवाया है। जिसमें वार्ड एक भी शामिल है। इसके अलावा भी अगर लोगों को कोई परेशानी आ रही है तो उसका भी समाधान किया जाएगा।

- नरेश शर्मा, प्रधान, नगर परिषद कठुआ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस