संवाद सहयोगी, हीरानगर: पीडब्ल्यूडी द्वारा घरों से बाहर पक्के बंकरों का निर्माण नहीं किए जाने से शेरपुर के लोगों में रोष व्याप्त है।

ग्रामीणों ने प्रशासन से अन्य गावों की तरह शेरपुर में भी बाहर बंकर बनाने की अनुमति देने की माग है। साथ ही चेतावनी दी है कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह धरना लगाकर बैठ जाएंगे। ग्रामीण जनक राज, चमन लाल, अश्रि्वनी कुमार, सतपाल दर्शन, लाल गुरदयाल, देवराज, जगदीश राज का कहना है कि उनके गाव में 213 के करीब व्यक्तिगत बंकर मंजूर हुए हैं। कुछ घरों में काम चल भी रहा है, मगर अधिकांश लोगों के घरों में बंकर बनाने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। लोग घरों के बाहर पशुओं के लिए बनाए गए तबेलों में बनवाना चाहते हैं, लेकिन अधिकारी नहीं मान रहे। उन्होंने कहा सीमा पर कुछ गावों में तो दो तीन सौ मीटर की दूरी पर भी बन रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि अगर सरकार सुरक्षा के लिए बंकर निर्माण के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रही है तो फिर सभी बनने चाहिए। लोगों ने चेतावनी दी कि अगर सोमवार से पहले काम शुरू नहीं हुआ तो शेरपुर नयावत में ही धरना लगाकर बैठ जाएंगे।

इस संबंध पीडब्ल्यूडी सब डिवीजन हीरानगर के एईई केके अत्री का कहना है कि गाइड लाइन में घरों के एक सौ मीटर के अंदर ही बनाने के लिए कहा गया है। अगर उच्चाधिकारी कोई लिखित आदेश दें, तभी बाहर बनाए जा सकते हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस