संवाद सहयोगी, कठुआ: डिग्री कॉलेज ने ओजोन परत और जलवायु परिवर्तन पर संगोष्ठी का आयोजन किया। इस दौरान छात्रों ने वर्तमान पर्यावरण की स्थिति के बारे में संवेदनशील बनाना और जलवायु परिवर्तन के गंभीर परिणामों से निपटने के उपायों के बारे में अपने विचार रखे।

वुधवार को संगोष्ठी कार्यकम के मुख्य अतिथि के रुप में डिग्री कॉलेज के प्रधानचार्य प्रो. आशा राम शर्मा मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारे बेहतर भविष्य के लिए पर्यावरण को बचाने के लिए देश के हर व्यक्ति को सहयोग देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वृक्ष लगाने जैसे हमारे छोटे कार्य ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन को कम करने में एक लंबा रास्ता तय कर सकते हैं। बेहतर भविष्य के लिए ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए। इस दौरान पर्यावरण विज्ञान के एचओडी और इको क्लब के संयोजक डॉ. दीपशिखा शर्मा ने भी अपने विचार रखें। कार्यकम के दौरान ओजोन लेयर डिप्लेशन और ग्लोबल वार्मिंग पर विस्तार से चर्चा की गई। वक्ताओं ने कहा कि ओजोन लेयर ग्लोब में वैज्ञानिकों और पर्यावरणविदों के कायरें से कैसे ठीक हो रही है, लेकिन इसमें हमें भी प्रर्यावरण को बचाने के लिए पहल करनी चाहिए। इस संगोष्ठी में प्रथम स्थान इवलिन कौर, दूसरा स्थान अतुल और तानिया ने तीसरा स्थान हासील किया। इस अवसर पर ओटीई के वरिष्ठ संकाय सदस्य प्रो. पीके राव, प्रो.सुमनेश, डॉ.अरुण देव, प्रो.रचना, प्रो.कैलाश शर्मा और प्रो. सुमित दुबे भी मौजूद थे। समारोह की कार्यवाही की अध्यक्षता प्रोफेसर नीरू शर्मा द्वारा की गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस