संवाद सहयोगी, बिलावर :

सोमवार को बिलावर दौरे पर पहुंचे विधानसभा स्पीकर डॉ. निर्मल सिंह से मांगों को लेकर सीपी वर्कर और एसएसए शिक्षक मिले और उनसे समस्याओं के समाधान की माग की। सीपी वर्कर एसोसिएशन के सदस्यों ने स्पीकर को बताया कि उन लोगों को अगस्त 2017 को अंतिम बार एक महीने का वेतन मिला था। लेकिन अब अगस्त के बाद 10 महीने हो चले हैं लेकिन वेतन नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि सीपी वर्करों का 50 महीनों को वेतन बकाया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने दैनिक वेतन भोगियों के लिए नियमित करने के लिए एसआरओ 520 निकाला है, लेकिन अब तक उन्हें नियमित होने का इंतजार है। वेतन न मिलने से वे लोग आर्थिक बदहाली के शिकार हो गए हैं। तो एसएसए योजना के तहत लगे रहबर-ए-तालिम शिक्षकों ने विधानसभा स्पीकर के सामने अपनी समस्याओं को रखा। एसएसए शिक्षकों के बिलावर जोन अध्यक्ष विक्रम सिंह ने स्पीकर को बताया कि उन लोगों को समान सेवा देने के बाद भी उन्हें सातवें वेतन आयोग का लाभ नहीं मिल रहा है। जबकि एसएसए से वेतन को लेकर काफी परेशानी होती है। इसलिए उनकी माग है कि सभी रहबर-ए-तालिम शिक्षकों को जनरल हेड से जोड़ा जाए और वेतन नियमित तौर पर मिले। स्पीकर डॉ निर्मल सिह ने सभी की मांगों को को सुनने के बाद कहा उनकी मागों को सरकार पूरा करने के लिए प्रयास करेगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस