जागरण संवाददाता, कठुआ : देश के प्रतिष्ठित औद्योगिक घराने बिड़ला ग्रुप शहर के एक पुराने सार्वजनिक तालाब की भूमि को विकसित कर वहां पार्क का निर्माण कराएगा। सबसे अहम जिले में देश के प्रमुख उद्योगपति केके बिड़ला की याद में सार्वजनिक स्थान पर ये पहला पार्क होगा। जिसका विकास अब प्रशासन नहीं बल्कि बिड़ला ग्रुप ही कराएगा। जिला प्रशासन ने सरकार की सिफारिश पर उक्त सार्वजनिक तालाब की भूमि को विकसित करने के लिए बिड़ला गु्रप को जिम्मेदारी सौंप दी है। जहां पर बिड़ला गु्रप की राज्य की सबसे बड़ी औद्योगिक चिनाब टैक्सटाइल मिल है। इनके प्रबंधक पार्क का निर्माण कराएंगे। वीरवार पार्क के निर्माण के चलते भूमि पूजन किया जाएगा। जिसमें प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह मुख्यातिथि के रूप में शामिल होंगे। केके बिड़ला की जन्मशताब्दी के उपलक्ष्य में इस पार्क का निर्माण किया जा रहा है। इससे पहले शहर में भले ही इस गु्रप की सबसे बड़ी औद्योगिक इकाई है, लेकिन सार्वजनिक तौर पर उनके नाम का कोई भी ऐसा स्थान नहीं था। अब ये पहला बिड़ला गु्रप का पार्क होगा। शहर की प्राइम लोकेशन कालीबड़ी स्थित नेशनल हाईवे के पास बनाए जा रहे पार्क से आम लोगों को सुविधा मिलेंगी और आकर्षण का केंद्र भी बनेगा।

बता दें कि उक्त तालाब की भूमि पिछले कई दशकों से बेकार पड़ी थी और तालाब का सिर्फ स्वरूप ही रह गया था। जिसके जीर्णोद्वार का जिम्मा पूर्व वन मंत्री लाल सिंह ने उठाया था और तालाब की भूमि को खाली कराया, लेकिन तब स्थानीय कुछ लोगों ने इसका काफी विरोध किया, इसी बीच लाल सिंह के मंत्री पद से हटने के बाद निर्माण कार्य भी ठंडा पड़ गया था। इसके बाद वन विभाग तालाब के जीर्णोद्वार को आगे नहीं बढ़ा पाया। उसके बाद जिला प्रशासन ने भूमि के आसपास हुए अतिक्रमण को भी हटाया, लेकिन विकास के लिए शायद फंड के अभाव में कदम आगे नहीं बढ़ पाए। अब सरकार की सिफारिश पर निजी औद्योगिक घराने को इसके विकास का जिम्मा दिया गया, जो इसे पार्क के रूप में विकसित कर अपना नाम देगा।

Posted By: Jagran