श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : इंटरनेट मीडिया पर सक्रिय राष्ट्रविरोधी तत्वाें के खिलाफ अभियान को जारी रखते हुए पुलिस ने शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के एक युवक को गिरफ्तार कर लिया। बीते दो दिनों में यह दूसरी गिरफ्तारी है। इससे पूर्व पुलिस ने तथाकथित मानवाधिकारवादी अहसान उंतु को इंटरनेट मीडिया पर कश्मीर में आतंकवाद और अलगाववाद को सही ठहराने व स्थानीय लोगों को देश के खिलाफ बगावत के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

पुलिस प्रवक्ता ने पुलवामा के एक युवक की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि वह बनूरा का रहने वाला है। उसका नाम मीर मुश्ताक है। वह एक लंबे समय से इंटरनेट मीडिया के विभिन्न मंचों का इस्तेमाल आतंकी आैर अलगाववादी विचारधारा के प्रचार-प्रसार के लिए कर रहा था। वह अक्सर आतंकियों को सही ठहराते हुए सुरक्षाबलों की निंदा करता था। वह इंटरनेट मीडिया पर अक्सर ऐसी सामग्री को अपलोड और वायरल करता था, जो देश की एकता व अखंडता को नुक्सान पहुंचाने के अलावा कश्मीर में आम लोगों के जान माल के लिए भी खतरा पैदा करती है। जो लोग कश्मीर में आतंकवाद और अलगाववाद का विरोध करते हैं, वह कई बार उनहें इंटरनेट मीडिया पर धमका भी चुका है।

प्रवक्ता ने बताया कि मीर मुश्ताक की गतिविधियों की लगातार निगरानी की जा रही थी। उसके खिलाफ पुलवामा पुलिस स्टेशन में भी एक मामला दर्ज है। सभी आवश्यक सुबूत जमा करने के बाद ही उसे गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल, उससे पूछताछ जारी है। आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बीते दिनों ही इंटरनेट मीडिया पर सक्रिय राष्ट्र विरोधी तत्वों को चेतावनी देते हुए कहा था कि जो भी अफवाहें फैलाएगा, कानून व्यवस्था का संकट पैदा करने वाली सामग्री का प्रचार प्रसार करेगा, आतंकियों और अलगाववादियों के समर्थन में फर्जी खबरें चलाएगा, नपा जाएगा।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra