राज्य ब्यूरो, जम्मू : कश्मीर में सड़कों के निर्माण संबंधी गलत जानकारी देने वाले लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के खिलाफ राज्य सरकार जांच करवाकर कड़ी कार्रवाई करे। यह निर्देश सोमवार को विधानसभा में डिप्टी स्पीकर नजीर गुरेजी ने नेशनल काफ्रेंस के विधायकों को सड़क निर्माण संबंधी दिए जवाब में खामियां उजागर होने के बाद लोक निर्माण मंत्री नईम अख्तर को दिए।

दोपहर बाद के सत्र में लोक निर्माण विभाग की ग्रांट पर बहस के दौरान नेकां विधायक अल्ताफ कल्लू ने कश्मीर में कुछ सड़कों के निर्माण को लेकर दी गई जानकारी में अंतर का मुद्दा उठाया। विधायक ने कहा कि यह घोर लापरवाही है कि उनकी पार्टी के विधायक मुबारक गुल व जावेद लारमी के एक ही मुद्दे को लेकर दिए गए कट मोशनों के जवाब में विभाग ने सड़कों संबंधी अलग-अलग आंकड़ें दिए हैं। अली मोहम्मद सागर ने कहा कि उन्हें दी गई जानकारियां भी सही नहीं है। सड़क निर्माण संबंधी जो आंकड़े दिए गए हैं असल में सड़क की लंबाई से बहुत अधिक हैं। मंत्री ने स्पष्ट किया कि असल में सड़क की चौड़ाई 12 फीट होनी थी लेकिन कई स्थानों पर इसकी चौड़ाई 17-18 फीट होने के कारण लंबाई ज्यादा दिखाई है। बहस बढ़ती देख विपक्ष के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी उठ गए। उन्होंने कहा कि हम क्या मानें, कौन से जानकारी सही है व कौन से गलत। नेशनल कांफ्रेंस के अन्य कई विधायकों ने भी जानकारी में अंतर होने पर विरोध जताया। डिप्टी स्पीकर ने कहा कि यह एक गंभीर मामला हैं। लोक निर्माण मंत्री इस मामले में जांच करवाकर विधायकों को गलत जानकारी देने वाले विभाग के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करे।

Posted By: Jagran