सांबा, संवाद सहयोगी। देश की आन बान शान के लिए सांबा जिला के युवा तो कभी पीछे नहीं रहे, अब देश की सरहदों की निगहबानी करने के लिए यहां की युवतियां भी आगे आ रही हैं। उनमें भी बीएसएफ व सीआइएसएफ में भर्ती होकर देश सेवा करने का पूरा जुनून है। सांबा के पैंठी में सीमा सुरक्षा बल व सीआइएसएफ की भर्ती के लिए आवेदन पत्र भरने का सिलसिला चल रहा है।

सात नवंबर से यहां पर पंजीकरण हो रहे हैं 11 नवंबर तक चार हजार से अधिक युवाओं ने अपने पंजीकरण करवा लिया है। हालांकि 9 नवंबर को अयोध्या में श्री राम मंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने पर जम्मू कश्मीर में 144 लगाई थी और उसी के चलते शनिवार को पंजीकरण नहीं हुए थे।

महज चार दिन में जिस तरह से चार हजार से अधिक युवा व युवतियों ने अपने पंजीकरण करवा लिए हैं और उससे लगता है कि जिला सांबा के युवा तो देश सेवा में कभी पीछे नहीं रहे बल्कि अब युवतियां भी कंधे से कंधा मिलाकर देश सेवा में अपना योगदान देने में आगे आ रही हैं। युवतियां अपने कागजात लेकर लंबी लंबी कतारों में खड़ी होकर अपनी बारी का इंतजार कर रही हैं। पंजीकरण करवाने के लिए सीमावर्ती क्षेत्र से आई युवती नेहा ने बताया कि उसके पिता भी सेना से सेवानिवृत्त हैं। वह चाहती हैं कि वह भी देश सेवा में अपना अहम योगदान दे।

विदित रहे कि 16 नवंबर को यहां पर भर्ती शुरू होगी। मंजू राजपूत, सुषमा देवी, मीना चौधरी, सुमन भगत, कमलेश कुमारी ने कहा कि वह बेल्ट फोर्स में जाकर देश सेवा करना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि जब कभी वह बीएसएफ में तैनात महिला कर्मियों को देखती हैं तो उनके मन में भी यह चाह होती है कि वह भी उसमें जाकर देश सेवा करें।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप