जम्मू, राज्य ब्यूरो : कश्मीर के बारामूला में रविवार को महिलाओं के लिए आयोजित साइकिल रैली में भारी जोश दिखा। सेना की ओर से आयोजित 65 किलोमीटर की यह साइकिल रैली बारामूला से शुरू होकर नियंत्रण रेखा पर कमान अमन पोस्ट पर संपन्न हुई।

आजादी का अमृत महाेत्सव के जोश और जश्न का पैगाम लेकर सुबह महिलाएं, छात्राएं, राइड फार कश्मीर साइकिल रैली पर निकली। बालीवुड के अभिनेता और माडल मिलिंद सोमन व उनकी पत्नी अंकिता कुंवर ने रैली का शुभारंभ करने के साथ इसके हिस्सा भी लिया। बारामूला से कमान पोस्ट तक कई जगहों पर स्थानीय लोगों ने महिला साइकिल सवारों का स्वागत कर उनका हौंसला बढ़ाया। उत्तरी कश्मीर के बारामुला में सेना की डैग्गर डीविजन की इस रैली में पुणे की प्रसिद्ध साइक्लिस्ट प्रीती मस्के ,कोहलर कार्पाेरेशन की वंदना सेठ, पायल जैन ,ज्योतिका, अनन्या जैसी देश की नामी महिला साइकिल सवारों ने हिस्सा लिया। सबसे उम्रदराज महिला साइकिल सवार 75 वर्षीय अनुपमा भवे थी।

कश्मीर में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत आयोजित हो रहे कार्यक्रमों का हिस्सा इस साइकिल रैली में में 140 महिला साइकिल सवारों ने हिस्सा लिया। रैली में खासी संख्या में कश्मीर के विभिन्न हिस्सों से आई लड़कियां ने भी हिस्सा लिया। विशेष तौर पर महिलाओं के लिए साइकिल रैली करने का फैसला कश्मीर में इस वर्ष 13 अगस्त को ओपन साइकिल रैली की कामयाबी को देखते हुए लिया गया था। साइकिल रैली में हिस्सा लेने वाली महिलाओं, लड़कियाें का हौंसला बढ़ाते हुए सेना की चिनार कोर के कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे ने कहा कि कश्मीरी समाज में महिलाओं की भूमिका प्रगतिशील है। वे समाज को बेहतर बनाने के लिए हमेशा आगे रही हैं। कोर कमांडर ने जोर दिया कि लड़कियां खेलों में हिस्सा लेकर स्वस्थ जीवन जिएं। इसके लिए सेना उन्हें हर संभव सहयोग देगी।

रैली के समापन पर कोर कमांडर ने विभिन्न श्रेणियों के विजेताओं में पुरस्कार भी बांटे। इस रैली में हिस्सा लेने वाली महिलाएं, लड़कियां पहली बार ऐसा मौका मिलने पर उत्साहित थी। उन्होंने कोर कमांडर को रैली के अनुभवों के बारे में जानकारी दी। इस रैली के आयोजन का मकसद कश्मीर में खेल गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के साथ साहसिक गतिविधियों को बढ़ावा देना भी था।