जम्मू, जागरण संवाददाता । जम्मू संभाग भी वन्यजीवों का धनी क्षेत्र है। जहां के जंगलों में वन्यजीवों की कई प्रजातियां पल रही हैं। कस्तूरी हिरण, सामान्य हिरण, जंगली बकरी, काला भालू, भूरा भालू, तेंदुए, बारह सिंघा, सांभर और कई तरह के पक्षी यहां पर पाए जाते हैं। किश्तवाड़ क्षेत्र में तो हिम तेंदुआ भी दिख जाता है। वहीं यहां पर घराना समेत कई वेटलैंड हैं जहां हर साल प्रवासी पक्षी आते हैं।

अब इन वन्यजीवों का नजारा अब लोगों को सड़क किनारे डिस्प्ले स्क्रीन पर नजर आएगा। इसके लिए वन्यजीव संरक्षण विभाग तैयारी कर रहा है। लोगों में जागृति लाने के उद्देश्य से ही यह कदम उठाए जा रहे हैं। वन्यजीवों की तस्वीरें व इनकी गतिविधियों की जानकारी स्क्रीन पर दिखाई जाएगी। इसके लिए वन्यजीव संरक्षण विभाग ने मांडा क्षेत्र से गुजरने वाली जम्मू -नगरोटा सड़क पर जगह चिन्हित कर ली है। जल्दी ही सारा काम पूरा कर लिया जाएगा। यहां पर एक बड़ी डिस्प्ले स्क्रीन लगाई जाएगी जोकि शाम के समय दो तीन घंटे चलेगी।

मांडा डीयर पार्क में रखे जानवरों की गतिविधियों को भी डिस्प्ले स्क्रीन नजर आएंगी

इसके जरिए वन्यजीवों के संरक्षित अभयारण्य में पल रहे वन्यजीवों के रहन सहन के बारे में जानकारी लोगों तक पहुंचाई जाएंगी ही वहीं तराई क्षेत्रों में आने वाले प्रवासी पक्षियों की खूबसूरत तस्वीरों काे दिखाया जाएगा। साथ ही मांडा डीयर पार्क में रखे जानवरों की गतिविधियों को भी डिस्प्ले स्क्रीन नजर आएंगी। वन्यजीव संरक्षण विभाग की ओर से समय समय पर चलने वाले वन्यजीवों बचाव अभियान से जुड़ी तस्वीरें व वीडियो डिस्प्ले बोर्ड के जरिए प्रदर्शित होंगे। बाद में डिस्प्ले स्क्रीन कुछ और क्षेत्रों में भी लगाए जाने की योजना है।

वार्डन अनिल अत्री का कहना है कि डिस्प्ले स्क्रीन के जरिए लोगों को वन्यजीवों के प्रति जागृत करने का प्रयास है। लोगों को समझना होगा कि यह वन्यजीव हमारे लिए कितना जरूरी हैं। वहीं लोगों को वन्यजीवों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकेगी। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस