जेएनएफ, जम्मू : हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने अंबफला-जानीपुर रोड तथा हाईकोर्ट रोड को चौड़ा करने की दिशा में उठाए जा रहे कदमों और बेंच के पिछले निर्देशों का पालन करते हुए उठाए गए कदमों पर विस्तृत रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया है। बेंच ने राइट्स की रिपोर्ट पर क्या फैसला लिया गया, इस पर भी पक्ष रखने के निर्देश दिए हैं। बेंच ने यह निर्देश सिटीजन फोरम के प्रधान आरके चड्ढा की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान दिए। इस जनहित याचिका में कहा गया कि सरकार ने 2008 में शकुंतला से जानीपुर तक फ्लाईओवर बनाने व इस रोड को चौड़ा करने का प्रस्ताव बनाया था लेकिन अज्ञात कारणों से इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।

केस की सुनवाई के दौरान याची की ओर से पेश हुए वकील ने कहा कि कोर्ट ने योजना व वित्तीय विभाग को अंबफला-जानीपुर रोड को चौड़ा करने के लिए राइट्स की ओर से पेश की गई डीपीआर पर विस्तृत रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया था। यह रिपोर्ट पेश नहीं हुई। वकील ने कहा कि राइट्स ने मोनो रेल, ट्रैम व मेट्रो का प्रस्ताव दिया था।

Posted By: Jagran