जम्मू, राज्य ब्यूरो। सबकी सुनो, निर्णय अपना करो, युवाओं को सांप्रदायिकता और राजनीति से उपर उठकर अपनी सोच का दायरा बढ़ाना चाहिए। किसी भावन में न बहकर सोच समझ कर फैसला करना चाहिए। एक एक वोट का महत्व समझना चाहिए। ये विचार छात्राओं ने वाद विवाद प्रतियोगिता में व्यक्त किए।

 

दैनिक जागरण ने सही चुनें सभी चुनें अभियान के तहत गर्वनमेंट महिला पालीटेक्निक कालेज शिवनगर जम्मू में प्रतियोगिता का आयोजन किया। प्रतियोगिता का विषय था सही चुनें सभी चुनें। इसमें 18 छात्राओं ने भाग लिया जिसमें पांच छात्राओं को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। छात्राओं ने अपने विचारों में मतदान की प्रक्रिया काे अहम बताते हुए कहा कि हर नागरिक विशेषकर युवाओं का फर्ज है कि वे अपना वोट बेकार न जाने दें और हर हालत में मतदान करें। छात्रा पारूल ने कहा कि राजनीति में देश प्रेम की भावना की जगह परिवारवाद, जातिवाद ने ले ली है। अब भारत की राजनीति में सुभाष चंद्र बोस, शहीद भगत सिंह, चंद्र शेखर आजाद, लोकमान्य तिलक जैसे नेता नहीं रहे है जो अपने जोश से युवा वर्ग के मन में एक नई क्रांति का संचार कर सकें।

कालेज की प्रिंसिपल रितू जम्वाल कार्यक्रम की मुख्यातिथि थी। उन्होंने कहा कि हमे अपने वोट के महत्व को समझना चाहिए। यह संकल्प लेना चाहिए कि मतदान करनेे लिए जरूर जाएंगे। हमे अपने मताधिकार को लेकर जागरूक होना चाहिए। भारत युवाओं का देश है। युवाओं के हाथ में देश का भविष्य है इसलिए हम सब को अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए मतदान अवश्य करना चाहिए। हर वोट का अपना महत्व होता है। उन्होंने मतदान के प्रति जागरूकता अभियान चलाने पर दैनिक जागरण के प्रयासों की सराहना की। प्रिंसिपल ने प्रतियोगिता की विजेता छात्राओं साक्षी, कामाक्षी, संजना, प्रिया कौल और वर्ष को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। मंच का संचालन साक्षी ने किया।

  • चुनाव सिर्फ हमारे जीवन या भविष्य को तय नहीं करता है बल्कि देश का भविष्य भी निर्धारित करता है। जिस तरह हम अपने हक और विचारों को प्रयोग में लाते हैं इसी तरह हमें मतदान कर अच्छे उम्मीदवार का चुनाव करना चाहिए। भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और चुनावी प्रक्रिया में युवाओं की भूमिका अहम होनी चाहिए।  -साक्षी
  • हर पांच वर्ष के बाद देश में चुनाव होते हैं। चुनाव में मतदान की प्रक्रिया इसलिए जरूरी है क्योंकि हम देश का प्रधानमंत्री चुनते हैं। हमें सही उम्मीदवार को विजयी बनाना चाहिए ताकि देश को तरक्की के रास्ते पर ले जाने में मदद मिले। यह बिल्कुल सही है कि एक-एक वोट का महत्व होता है इसलिए यह मत सोचें कि एक वोट से क्या हो जाएगा।  - कामाक्षी
  • भारत युवाओं को देश है और युवा ही देश की दिशा को तय करते हैं। विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र देश में हमें चुनाव में जरूर भाग लेना चाहिए। चुनाव भी एक त्यौहार की तरह है। यह देश का भविष्य तय करता है। इसलिए सभी चुनें सही चुनें के नारे के साथ हम सब मतदान के लिए अपने घरों से निकलें और एक उज्जवल भविष्य का सपना साकार करें।  - संजना
  • अट्ठारह वर्ष की आयु पूरी होने पर कोई भी मतदान कर सकता है। कालेजों और विश्वविद्यालयों में बड़ी संख्या में ऐसे विद्यार्थी हैं जो निर्धारित आयु के साथ अपने वोट बना चुके हैं। मैं तो यही कहती हूं कि हमें लोकतंत्र में अपनी भागीदारी अवश्य सुनिश्चित करनी चाहिए। सोच समझ कर मतदान करें और जो उम्मीदवार आपको अच्छा लगता है उसे वोट दें। - प्रिया कौल
  • जब चुनाव का बिगुल बजता है तो बड़ी संख्या में उम्मीदवार मैदान में उतरते हैं। सही और वायदाें पर खरा उतरने वाले उम्मीदवार की पहचान हमने करनी है। इसलिए कहा जाता है कि मतदान जरूर करें और सोच समझ कर करें। भारतीय चुनाव आयोग और दैनिक जागरण के मतदाताओं को जागरूक करने के प्रयास काफी अच्छे हैं। - वर्षा
  • हम अपनी बात को चुनाव में मतदान करके ही रख सकते हैं। आखिरकार उम्मीदवारों को तो जनता ने ही चुनना होता है। भारत की राजनीतिक स्थिरता यही है कि हम पांच वर्ष के बाद मतदान करते हैं और अपने मनपसंद उम्मीदवारों को वोट डालकर विजयी बनाते हैं। सही चुनें सभी चुनें का अभियान बिल्कुल कारगर है। देश में बेरोजगारी समेत कई समस्याएं हैं जिनका समाधान करना जरूरी है। हमें सोच समझ कर मतदान करना चाहिए ताकि अपनी समस्याओं का समाधान करवा सकें। - जीनत मुश्ताक

 

  • भारत का युवा वर्ग समझदार है और मतदान करने को लेकर सक्रिय भी है। युवाओं को साम्प्रदायिकवाद तथा राजनीति से परे होकर अपनी सोच का दायरा बढ़ाना होगा। वोट डालने का फैसला किसी भी भावना में न बह कर सोच समझ कर करना होगा। मतदाता को जाति या धर्म के आधार पर नहीं निडर होकर मतदान करना चाहिए इसी में देश की तरक्की है। - निकिता 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप