जम्मू, एजेंसी। अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर का LG बनने की दौड़ में सबसे आगे हैं पूर्व आईपीएस विजय कुमार और दिनेश्‍वर शर्मा। तमिलनाडु कैडर के 1975 बैच के आईपीएस विजय कुमार अभी जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के सलाहकार हैं।

जानकारी हो कि जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद आईपीएस अफसर के. विजय कुमार राज्य के पहले उप राज्यपाल बन सकते हैं। तमिलनाडु कैडर के 1975 बैच के आईपीएस विजय कुमार अभी जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के सलाहकार हैं। विजय कुमार बीएसएफ के आईजी के तौर पर भी कश्मीर घाटी में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इसके साथ ही उप राज्यपाल के लिए केंद्र सरकार के विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा का नाम भी चल रहा है। दिनेश्वर शर्मा इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के निदेशक रह चुके हैं।

जम्‍मू-कश्‍मीर का उपराज्‍यपाल बनने की दौड़ में आईपीएस अफसर दिनेश्‍वर शर्मा और विजय कुमार सबसे आगे हैं। विजय कुमार ने चंदन तस्कर वीरप्पन को किया था ढेर। आईपीएस अधिकारी के. विजय कुमार जंगलों में आतंकरोधी अभियान चलाने में माहिर माने जाते हैं। 2010 में छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 75 जवानों के शहीद होने के बाद विजय कुमार को सीआरपीएफ का महानिदेशक (डीजी) बनाया गया था। इसके बाद इलाके में नक्सली गतिविधियों में भारी कमी आई थी। कुमार की ही अगुआई में चंदन तस्कर वीरप्पन को मार गिराया गया था। कुमार अभी जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के सलाहकार हैं। लंबे समय तक घाटी में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप