जम्मू, राज्य ब्यूरो। केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख जल्द कोरोना मुक्त होकर देश, विश्व के लिए एक मिसाल बनने की ओर अग्रसर है। क्षेत्र में एक महीने से ज्यादा अरसे से कोरोना के खिलाफ लड़ी जा रही जंग में 80 प्रतिशत से अधिक मरीज ठीक हो गए हैं। लद्दाख में कुल 14 कोरोना संक्रमित मरीज थे। इनमें से 11 ठीक हो गए हैं। बुधवार को एक और मरीज के नेगेटिव होने के बाद क्षेत्र में अब केवल तीन मरीज ही पॉजीटिव हैं।

लद्दाख में कुल 14 कोरोना संक्रमित मरीज थे। इनमें से 11 ठीक हो गए हैं। बुधवार को एक और मरीज के नेगेटिव होने के बाद क्षेत्र में अब केवल तीन मरीज ही पॉजीटिव हैं। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में ये मरीज भी ठीक होने से लद्दाख को कोरोना मुक्त बनाने की प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग की मुहिम कामयाब हो जाएगी। लद्दाख ने कोरोना का पहला मामला आने के बाद ही त्वरित कार्रवाई करते हुए न सिर्फ प्रदेश की सीमाएं सील कर दी थी अपितु उन गांवों को भी पूरी तरह से क्वारंटाइन कर इस बीमारी के आगे फैलने पर रोक लगा दी थी।

लद्दाख से छह अप्रैल तक 496 सैंपल दिल्ली के नेशनल सेंटर फार डिजिज कंट्रोल में भेजे जा चुके हैं। पिछले कई दिनों से लद्दाख का एक भी मामला पॉजीटिव नहीं आया है। वहीं अस्पताल से छुट्टी होने के बाद 11 मरीजों को एहतियात के तौर पर अभी क्वारंटाइन में रखा गया है। लद्दाख के स्वास्थ्य विभाग के कमिश्नर सेक्रेटरी रिग्जिन सैंफल ने बुधवार को लद्दाख के 11वें मरीज के भी ठीक होने की पुष्टि की है। उन्होंने सोशल साइट ट्वीटर पर लिखा है कि यह एक अच्छी खबर है कि अधिकतर मरीज ठीक हो गए हैं।

इसी बीच लेह के चुशोत व कारगिल के सांखु गांव में अभी भी सख्ती बरती जा रही है। इन गांवों में पॉजीटिव मरीज आने के बाद उन्हें सील कर दिया गया था। इन गांवों में भी लोगों की क्वारंटाइन समयावधि समाप्त हो रही है।

 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस