जम्मू, राज्य ब्यूरो : अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री जान बारला ने कहा है कि समय आ चुका है कि जब विकास का हर लाभ दूरदराज व सीमा से सटे इलाकों में रहने वाले लोगों को मिल रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार कुपवाड़ा जिले को विशेष महत्व देती है, ऐसे में लोगों की सभी मुश्किलों का समाधान होगा।

मोदी सरकार की आउटरीच मुहिम के तहत कश्मीर के सीमावर्ती कुपवाडा जिले के दो दिवसीय दौरे पर आए अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री जान बारला ने जिले में पाकिस्तानी गोलाबारी का सामना करने वाले लोगों से भेंट कर उनका हौसला बढ़ाया। मंत्री ने दौरे के दूसरे दिन जिले में खुमरियाल पुल का उद्घाटन किया। जिले में 614.98 करोड़ रूपये की लागत से बना डबल लेन खुमरियाल पुल कुपवाड़ा को लोलाब घाटी को जोड़ता है।

केंद्रीय मंत्री ने कुपवाड़ा में पोषण अभियान का निरीक्षण करने के साथ क्षेत्र के कालारूस इलाके में खेती-बाड़ी के साथ जुड़े लोगों से भेंट कर उन्हें पेश आ रही समस्याओं का भी जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने लोगों से भेंट कर उनसे केंद्र प्रायोजित योजनाओं का लाभ दिलाने की दिशा में जारी कार्रवाई, उनके जाब कार्ड बनाने व कृषि कल्याण की योजनाओं का लाभ दिलाने की दिशा में हो रही कार्रवाई के बारे में जानकारी ली।

जान बारला ने चिनार चैरिटी फाउंडेशन की ओर से कैंसर के मरीजों के लिए दी गई एक एंबुलेंस भी लोगों को समर्पित की। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ऐसे गैर सरकारी संगठनों को पूरा सहयोग दे रही जो समाज सेवा कर रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कुपवाड़ा के जंगाली पब्लिक पार्क का दौरा कर वहां जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से बैठक की। इस बैठक में जिले के डिप्टी कमिश्नर इमाम दीन, एसएसपी डा जीवी संदीप समेत कई अधिकारी मौजूद रहे। इसी बीच दौरे के दौरान मंत्री ने दोपहर को जिले में इंटीग्रेटेड चाइल्ड डेवलपमेंट टीम के अधिकारियों द्वारा लगाए गए स्टालों का निरीक्षण किया। मंत्री ने आईसीडीसी के काम करने की सराहना करते हुए कोरोना की रोकथाम की दिशा में बेहतर कार्रवाई पर अधिकारियों, कर्मियों का हौंसला बढ़ाया।

 

Edited By: Rahul Sharma