श्रीनगर, जेएनएन। कश्मीर घाटी में पड़ रही कड़ाके की सर्दी में हृदयघात के मामलों में वृद्धि हुई है। पिछले दो सप्ताह के दौरान कश्मीर में 15 लोगों की हृदयघात से मौत हो चुकी है। वहीं अगले पिछले 24 घंटों की बात करें तो इस दौरान दो महिलाओं की हृदयघात से मौत हुई है। वहीं हृदयरोग विशेषज्ञों ने दिल के मरीजों को सुबह व शाम के समय घर से बाहर न निकलने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि जिस तरह हर दिन तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है, आने वाले दिनों में हृदयघात के मामले बढ़ सकते हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गत बुधवार को उत्तरी कश्मीर के बांडीपोर जिले के सुंबल में एक महिला मुबेना (30) की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। परिवार के अन्य सदस्यों ने उसे तुरंत अस्पताल पहुंचाया परंतु डॉक्टरों ने उसे मृत लाया घोषित कर दिया। मध्य कश्मीर के जिला बडगाम के नौगाम चौराहा में रहने वाली दिलशादा बेगम (40) को भी घर पर दिल का दौरा पड़ा। उसे भी अस्पताल पहुंचाया गया परंतु रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। इससे पहले 10 जनवरी को एक सरपंच और एक निजी स्कूल के शिक्षक सहित तीन लोगों की हृदयघात से मौत हो गई थी।

इन मौतों के साथ, दो सप्ताह के दौरान घाटी में लगभग 15 व्यक्तियों की हृदयघात से मृत्यु हुई है। डॉक्टर्स एसोसिएशन कश्मीर (DAK) के अध्यक्ष डॉ. निसार उल हसन और अन्य विशेषज्ञों ने युवाओं में बढ़ते दिल के दौरे के मामलों चिंता व्यक्त की।'

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021